मथुरा

वृक्ष ईश्वर की अमूल्य धरोहर : महंत अखिलेश्वर दास

एनएसएस के विद्यार्थियों ने किया औषधीय वृक्षारोपण

add 22
add 21
add 20
add 2
add 1
add 14
add 13
add 12
add 15

 

मथुरा/बरसाना : वृक्षों के बिना मानव जीवन की कल्पना भी नहीं की जा सकती है। पेड़-पौधे हमको ऑक्सीजन रूपी प्राण वायु देते हैं। वृक्ष ईश्वर की हमारे लिए दी गई अमूल्य धरोहर हैं। इसीलिए पेड़ों को बचाना किसी के जीवन को बचाने के बराबर है। यह बात बरसाना देहात के ग्राम नाहरा में वनविहारी आश्रम के महंत अखिलेश्वर दास महाराज ने श्री बाबूलाल महाविद्यालय की एनएसएस ईकाई के वृक्षारोपण कार्यक्रम में कही। श्री बाबूलाल महाविद्यालय के राष्ट्रीय सेवा योजना विशेष शिविर के तीसरे दिन विद्यार्थियों ने महंत अखिलेश्वर दास महाराज के निर्देशन में अलग-अलग प्रकार के ओषधीय वृक्ष लगाये गये। एनएसस के विद्यार्थियों द्वारा वृक्षारोपण कार्यक्रम की महाविद्यालय के डायरेक्टर नंदकिशोर शर्मा एडवोकेट ने प्रशंसा की। इसे समाज के लिए आवश्यक बताया कि औषधीय वृक्षों से अनेक प्रकार की बीमारियों का इलाज संभव है। राष्ट्रीय सेवा योजना के कार्यक्रम अधिकारी भारत उपाध्याय एडवोकेट ने अखिलेश्वर दास महाराज का गिरिराज जी की छवि चित्र देकर व दुपट्टा माला पहनाकर स्वागत किया। विशेष शिविर में वृक्षारोपण का महत्व बताया कि देश का प्रत्येक व्यक्ति अगर वृक्षों को बचाने और पौधों को लगाने की पहल करे तो हमारे देश में प्राकृतिक परिवर्तन देखने को मिलेंगे। अधिक पेड़ लगाने से प्रदूषण का स्तर कम होगा और कैंसर जैसी भयानक बीमारियों से बचा जा सकेगा। छात्राओं ने होली गीत सुनाकर सबको मोहित कर दिया। ग्रह विज्ञान की प्रभारी मधु शर्मा ने सभी अतिथियों को धन्यवाद ज्ञापित करके आभार जताया। संचालन डॉ. राजीव कुमार सिंह ने किया। नाहारा के वनबिहारी मंदिर पर हुए वृक्षारोपण कार्यक्रम में प्रो. साक्षी पांडेय, बी.ए. प्रभारी एल. एन. शर्मा, किश्नो पहलवान, विकास दादा, सचिन गर्ग, तनु, ज्योति, अंजू, रामशखी, कविता, रवीना, आदि थे।

Related Articles

Back to top button
Close