एटा

पुलिस फैमिली वेलफेयर एसोसिएशन ने पुलिस लाइन में लगाया स्वास्थ्य परीक्षण शिविर

add 22
add 21
add 20
add 2
add 1
add 14
add 13
add 12
add 15

 

एटा : जनपदीय पुलिस फैमिली वेलफेयर एसोसिएशन वामा सारथी के सौजन्य से एकदिवसीय निःशुल्क स्वास्थ्य परीक्षण पुलिस लाइन में आयोजित हुआ। इस स्वास्थ्य शिविर का शुभारंभ अध्यक्षा मीनाक्षी सिंह ने फीता काट कर किया। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार सिंह एवं वामा सारथी अध्यक्षा मीनाक्षी सिंह के निर्देशन में जनपदीय पुलिस लाइन स्थित बहुउद्देशीय हॉल में पुलिस कर्मचारियों एवं उनके परिवारीजनों हेतु निशुल्क स्वास्थ्य शिविर का आयोजन किया गया। जिलाधिकारी डॉ विभा चहल द्वारा आरोग्य देव धनवंतरी की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर एवं दीप प्रज्वलित कर किया। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक द्वारा जिला चिकित्सालय से आए सभी चिकित्सकों को माला पहनाकर सम्मानित किया गया। इसी क्रम में वहां उपस्थित अधिकारी एवं कर्मचारियों तथा उनके परिवारीजनों द्वारा अपने स्वास्थ्य संबंधी परीक्षण कराया गया जिसके संबंध में वहां उपस्थित जिला चिकित्सालय एटा के डॉक्टरों द्वारा ब्लड प्रेशर, ब्लड शुगर, हीमो ग्लोबिन, यूरिक एसिड आदि का परीक्षण कर संबंधित को‌ निशुल्क दवाई भी‌ वितरित की गई।

साथ ही डॉक्टरों द्वारा पुलिस की व्यस्त जीवन शैली में तनाव से बचने तथा स्वस्थ रहने हेतु निम्न सुझाव दिए गए-

1- मल्टीटास्किंग बंद करें : मल्टीटास्किंग का अर्थ है एक साथ कई काम करना, जैसे कम्प्युटर कर लेता है, कई लोग इसे बहुत बड़ा गुण समझते हैं लेकिन हकीकत में इसके नुकसान अधिक हैं, यह हमारी काम करने की गति को सुस्त और बाधित कर देता है, इससे काम के ज़रूरी पक्षों से ध्यान हट भी सकता है, यह तनाव बढ़ाता है, एक वक़्त में एक ही काम करें।

2- ऊर्जा का क्षय रोकें : यदि आपने पहली स्टेप में बताये अनुसार तनाव उत्पन्न करनेवाले कारणों की पहचान की है तो आपने शायद ऐसे काम भी नोट किये होंगे जो आपकी ऊर्जा को सिर्फ नष्ट करते हैं, कुछ काम ऐसे होते हैं जिनमें दूसरे कामों कि अपेक्षा ज्यादा ऊर्जा और समय लगता है, उन्हें पहचानें और हटायें, जिंदगी बेहतर जीने के लिए भरपूर ऊर्जा का होना जरूरी है।

3- सरलीकरण करें : अपनी दिनचर्या को सरल-सहज करना बहुत ज़रूरी है, अपने संकल्प, सूचना-व्यवस्था, आवास और कार्यस्थल, और जीवन में घटित हो रही बातों को सरल बनाना ज़रूरी है, इसके अच्छे परिणाम होते हैं।

4- कसरत करना : इसके कई लाभ हैं, शारीरिक और मानसिक स्तर पर यह बहुत प्रभावशील है, यह शरीर को फिट रखने के साथ-साथ तनाव से भी कुशलता से निपटती है, एक स्वस्थ और फिट व्यक्ति थकान और दबाव का सामना बेहतर तरीके से कर सकता है, दूसरी ओर, अस्वस्थ होना स्वयं में बहुत बड़ा घाटा है, कसरत हमें रोग और तनाव से दूर रखती है।

5- अच्छा खाएं : यह कसरत करने जितना, बल्कि उससे भी अधिक महत्वपूर्ण है। सम्यक, संतुलित, और सात्विक आहार शरीर और मन को पुष्ट करता है। तला हुआ चटपट खाना हाजमे को ख़राब करता है और शरीर को बोझिल बनाता है जिससे तनाव होता है।

आयोजनकर्ता वरिष्ठ चिकित्सक डॉ रामविलास शर्मा द्वारा जिलाधिकारी महोदया एवं एसएसपी एटा को मास्क एवं सैनेटाइजर भेंट किए गए।

इस अवसर पर नाक, कान, गला रोग विशेषज्ञ डॉक्टर अश्वनी कुमार, दंत रोग विशेषज्ञ डॉ. हिमांशु उपाध्याय ,स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ. पल्लवी गुप्ता, तथा उत्तर प्रदेश नीमा के संरक्षक डॉक्टर राम विलास शर्मा, डॉ. एस एस तोमर, डॉ विजेन्द्र सिंह बर्मा, डॉ. मनोज भारद्वाज , डॉ. विशाल गुप्ता, डॉ. आनंद राठौर, डॉ. मुनीश वार्ष्णेय, डॉ. सुरेंद्र मोहान सारस्वत, डॉ. एन पी सिंह, डॉ. अनुज शर्मा, होम्योपैथिक डॉक्टर  राजू सोलंकी आदि उपस्थित रहे।

Related Articles

Back to top button
Close