मथुरा

बसंत पंचमी को वृंदावन में वैष्णव बैठक का हुआ विधवत शुभारम्भ

नगर में संत महंतों ने धूमधाम से निकाली शोभायात्रा

add 22
add 21
add 20
add 2
add 1
add 14
add 13
add 12
add 15

 

मथुरा। बसंत पंचमी को वृंदावन मंे 40 दिन तक चलने वाली वैष्णव बैठक का विधवत शुभारम्भ हो गया। 14 फरवरी को खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ वृंदावन में यमुना घाट पर आरती कर वैष्ण बैठक का अनौपचारिक उदघाटन कर गये थे। मंगलवार की सुबह तीन अनि और उनके अखाड़ों के श्रीमहंतों ने ध्वज पूजन किया और उसके बाद उसे मंत्रोच्चारों के मध्य स्थापित किया। तीन अनि और उनके 18 अखाड़ों के श्रीमहंतों द्वारा हर्षोल्लास के साथ किया गया। पंच निर्वाणी अनि अखाड़ा के महंत धर्मदास, पंच दिगंबर अनि अखाड़े के महंत किशन दास, महंत गौरी शंकर दास, महंत राजेंद्र दास एवं महंत लाल शरण दास ने विधिविधान से ध्वज का पूजन किया। उसके बाद धर्म ध्वज को स्थापित किया गया। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव एवं राज्यसभा सांसद अरुण सिंह, सांसद हेमामालिनी एवं प्रदेश के ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने भी धर्म ध्वज का पूजन कर आरती की। गुरुकुल स्थित काठिया आश्रम से संत महंतों ने धूमधाम के साथा नगर में भव्य शोभायात्रा निकाली। यह शोभायात्रा गुरुकुल मार्ग स्थित काठिया बाबा आश्रम से शुरु होकर किशोरपुरा, विद्यापीठ, बाँकेबिहारी बाजार, अठखम्बा, चुुगी चैराहा होते हुए कुंभ मेला क्षेत्र में पहुंची। शोभायात्रा में संत महंत मंत्रोच्चारण करते हुए पुष्पों छत्रों के साथ चल रहे थे। वहीं बैंडबाजों की धार्मिक धुनों पर वैष्णव जन एवं श्रद्धालु नृत्य कर रहे थे। यह शोभायात्रा कुंभ क्षेत्र में प्रशे करने के साथ ही सम्पन्न हुई। इस अवसर पर काठिया बाबा आश्रम के महंत रासबिहारी दास महाराज, महंत फूुलडोलदास, महंत सच्चिदानन्द, मंहत सुन्दरदास आदि उपस्थित थे।

Related Articles

Back to top button
Close