आगरा

पिंक बैल्ट मिशन ने मनवाया महिलाओं का त्यौहार

25 हजार की नगद राशि, साड़ियां, गिफ्ट आइटम पाकर खिलखिलाए महिलाओं के चेहरे

add 22
add 21
add 20
add 2
add 1
add 14
add 13
add 12
add 15

मिशन इंडिया न्यूज संवाददाता : अनुराग तोमर

आगरा : पिंक बैल्ट मिशन द्वारा अशोकनगर पचकुइयां में आयोजित अन्नपूर्णा वीक के चौथे दिन गरीब महिलाओं ने चारों प्रतियोगिता में पूरे जोश के साथ भाग लिया कोई किसी से कम नहीं रहीं। सभी बहुत खुश व उत्साहित नजर आ रही थीं। एक ओर जहां महिलाओं के चेहरे पर खुशी थी तो दूसरी ओर संस्था से इतना प्यार स्नेह और सम्मान पाकर काफी भावुक भी थीं उनका कहना था कि हमारी जिंदगी घर के कामकाज में ही सिमटकर नीरस हो गई थी। हमें अपना मनोरंजन करने का अवसर मिल ही नहीं पाता। पिंक बेल्ट मिशन ने आज हमारा दिन बना दिया और हमारा त्यौहार भी। पहली बार हमने इतना इंजॉय किया है ।महिलाओं ने कहा कि मकर संक्रांति का त्यौहार आने वाला है और यह दान पुण्य करने का त्यौहार होता है पर हमारे पास इतने अत्यधिक पैसे नहीं होते कि हम इस त्योहार पर बच्चों के लिए मिठाइयां या नए कपड़े ला सकें वहीं अपने घर की बहन बेटियों को कुछ दान पुण्य कर सकें। पर आज पुरस्कार के रूप में प्राप्त नगद धनराशि से हम अपना अच्छे से त्यौहार मनाएंगे। किसी ने कहा हम नए कपड़े खरीदेंगे तो किसी ने कहा कि बच्चों के लिए मिठाइयां बनाएंगे वहीं कुछ महिलाएं बोली कि थोड़ा बहुत हम भी दान कर देंगे। वहीं साथ में कराए गए भंडारे में लगभग 1000 गरीब बच्चों व महिलाएं गरमा गरम भोजन पाकर महिलाएं सभी बहुत खुश थी।

पिंक बैल्ट मिशन की संस्थापिका अपर्णा राजावत के अनुसार का अन्नपूर्णा वीक का मुख्य उद्देश्य कोविड 19 के समय आर्थिक परेशानियों से जूझ रही गरीब महिलाओं के चेहरे पर खुशी लाना व उनको आर्थिक सहायता पहुंचाना है, उनकी नीरस जिंदगी में रंग भरना,व मनोरंजन करना है वहीं बस्तियों में रहने वाली घरेलू महिलाओं में आत्मविश्वास जगाना है कि वह भी किसी से कम नहीं है उनमें भी प्रतिभाएं छिपी हुई है और अपने इन्हीं प्रतिभा के बल पर वह सम्मान पाने की हकदार है।

मिशन की संरक्षिका मानसी चंद्रा जी के अनुसार पिंक बैल्ट मिशन द्वारा गरीब लोगों को आर्थिक रूप से सहायता पहुंचाने की छोटी सी पहल है जो कि महिलाओं की प्रतियोगिता के माध्यम से पूर्ण की जा रही है। जिससे उनकी आर्थिक सहायता तो हो ही पर साथ में कुछ मनोरंजन भी हो ।जिससे उनके चेहरे के साथ मन भी खुशी से प्रफुल्लित हो सके ।

रोटी बेलना, आलू छीलना मेकअप व ढोलक पर गीत चारों प्रतियोगिताओं में महिलाओं ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया नौजवान महिला के साथ साथ 70 वर्षीय बुजुर्ग महिलाएं भी प्रतियोगिता में भाग लेती नजर आईं । पूरी बेलने ,आलू छीलने में नौजवान महिलाओं ने बाजी मारी तो ढोलक में बुजुर्ग महिलाएं अव्वल रही। सभी एक दूसरे को पछाड़कर आगे निकलना चाहती थी ।हंसी ठिठोली के साथ प्रतियोगिता का नजारा देखते ही बन रहा था। और मेकअप में सास बहूए दोनों ही अपने परस्पर मेल से आगे बढ़ी। 90 वर्षीय बुजुर्ग महिलाओं ने भी अपनी बहुओं से मेकअप करवाया। एक दूसरे को जोरदार टक्कर दे रही थी। प्रतियोगिता के लिए वह बहुत ही उत्साहित नजर आई । वही ढोलक पर भी बुजुर्ग महिलाओं ने ठुमके लगाए । उनका कहना था कि उन्होंने आज तक इतना एंजॉय नहीं करा।

रोटी बेलने में प्रथम लता द्वितीय लक्ष्मी व तृतीय आरती यह रही आलू छीलने में प्रथम कमला द्वितीय रेनू व तृतीय ज्योति यह रही मेकअप में प्रथम राखी द्वितीय खुशी व तृतीय स्नेहा यह रही वहीं ढोलक में प्रथम सपना द्वितीय महादेवी व तृतीय सरोज देवी यह रहीं।

कार्यक्रम में वत्सला प्रभाकर ऑपरेशन हेड के रूप में मनीषा ठाकुर ,चांदनी ,आरती, दीप्ति ,लक्ष्मी राठौर , टीना, मुस्कान, ज्योति, साक्षी, स्वीटी, नेहा ,डिंपल व पायल चौहान नरेश कुमार तथा पिंक बेल्ट मिशन की तारा इनोवेशन की टीम उपस्थित रहे आदि रही।

Related Articles

Back to top button
Close