आगरा

कंपनी द्वारा भुगतान ना होने पर सफाई कर्मियों ने किया प्रदर्शन

add 22
add 21
add 20
add 2
add 1
add 14
add 13
add 12
add 15

 

आगरा : ताजनगरी के नगर निगम परिसर में महिला सफाई कर्मियों ने जमकर प्रदर्शन किया। सफाई महिला कर्मचारियों का आरोप है कि आगरा में बने पिंक टॉयलेटों की सफाई के लिए लगभग 30 महिला कर्मचारियों को नियुक्त किया गया है। जिसका टेंडर सीएलसी को जून से जारी किया। महिला कर्मचारियों को अभी तक चार महीने का भुगतान किया जा चुका है ,जबकि 2 माह का भुगतान सीएलसी पर बाकी है। महिला कर्मचारियों का भुगतान नगर निगम व सीएलसी के बीच में अटका हुआ है। एक दिसंबर से सीएसटी का टेंडर खत्म हो गया है और वर्तमान में सुलभ इंटरनेशनल को पिंक टॉयलेट की सफाई का टेंडर मिल हुआ है। सीएससी के मैनेजर दुर्गेश पांडेय ने पूरे मामले पर सफाई देते हुए कहा कि उनकी कंपनी पर मार्च से आगरा के पिंक टॉयलेट की सफाई का टेंडर था जिसमें 30 महिला सफाई कर्मी पूरे आगरा में कार्यरत थे। महिला कर्मचारियों को कंपनी की तरफ से 4 महीने का भुगतान कर दिया गया है लेकिन नगर निगम की तरफ से हमे केवल 2 माह का भुगतान किया गया है। सीएलसी ने खुद से अतिरिक्त 2 महीने का भुगतान सफाई कर्मचारियों को दे दिया है। लेकिन नगर निगम से अभी तक हमारा भी भुगतान पूरा नहीं किया। ऐसे में अपर नगर आयुक्त ने 2 महीने का वेतन देने की बात कही है और बाकी के 2 महीने के वेतन पर कोई संतोषजनक जवाब नहीं दिया है। जबकि सफाई कर्मचारी अपने पूरे भुगतान व दोबारा से कार्य वापसी की मांग कर रहे हैं।

Related Articles

Back to top button
Close