आगरा

सर्दी-जुकाम होने पर लें भाप : डॉ. अजीत सिंह चाहर

जुकाम-खांसी से कमजोर होती है रोग प्रतिरोधक क्षमता

add 22
add 21
add 20
add 2
add 1
add 14
add 13
add 12
add 15

 

आगरा : सर्द मौसम की वजह से लोगों को खांसी-जुकाम और फ्लू की समस्याएं ज्यादा हो रही हैं । सामान्य खांसी-जुकाम और फ्लू की समस्या से भी शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता पर असर पड़ सकता है, ऐसे में शुरूआती लक्षण होने पर ही इसे ठीक कर लें, अन्यथा इससे कोविड-19 के संक्रमण का खतरा भी बढ़ सकता है। सरोजनी नायडू मेडिकल कॉलेज के डॉ. अजीत सिंह चाहर बताते हैं कि सर्द होते मौसम में सर्दी-जुकाम और सामान्य फ्लू की समस्या हो सकती है। उनका कहना है कि कोविड—19 का संक्रमण अब भी चल रहा है, ऐसे में पूरी तरह से फिट रहना जरूरी है, ताकि शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत रहे। इसलिए सामान्य फ्लू होने पर डॉक्टर से संपर्क करें। सर्दी, खांसी और जुकाम होने पर गर्म पानी का भाप (स्टीम) भी ले सकते हैं। इससे ज्यादा आराम मिल सकता है ।
गर्म पानी का भाप लेना एक चिकित्सीय तरीका है, इससे नाक और गले के माध्यम से फेफड़ों तक गर्म हवा पहुंचती है, जो सर्दी में काफी राहत देती है। गर्म भाप से बंद नाक खुल जाती है और सांस लेने में दिक्कत नहीं होती है।इतना ही नहीं भाप लेने से शरीर का तापमान बढ़ता है और रक्त संचार भी सुधरता है। भाप लेना भी एक कला है। अगर इसे सही तरीके से सही समय लिया जाए तो ये बेहद कारगर साबित होता है।
सर्दी-जुकाम के लिए इस तरह लें भाप:
एक बर्तन में पानी लें और उसे तेज गर्म करें। भाप लेने के लिए भाप की मशीन का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। जब पानी तेज गर्म हो जाए तो इसमें विक्स मिला लें। अब तेज गर्म पानी के बर्तन के ऊपर अपने चेहरे को 30 सेंटीमीटर की दूरी पर रखें। सिर को टॉवेल से अच्छी तरह से ढंक लें और अब लम्बी -लम्बी सांस लें। भाप कम से कम 5-10 मिनट तक लें, ताकि गर्म हवा फेफड़ों तक पहुंच कर सर्दी-खांसी और कफ से निजात दिलाएं।
भाप लेने के फायदे:
• सर्दी-जुकाम और कफ होने पर भाप लेना बेहद असरदार साबित होता है। भाप लेने से न केवल सर्दी ठीक होगी बल्कि गले में जमा हुआ कफ भी आसानी से निकल सकेगा और किसी तरह की परेशानी भी नहीं होगी।
• अस्थमा के मरीजों को भाप लेने के बेहद फायदे हैं । भाप सीने से कफ को साफ करती है और सांस असानी से लेने में मदद करती है।
भाप लेते समय इन बातों का रखें ख्याल
• अगर भाप लेते समय आंखों में जलन या कोई और परेशानी हो रही है तो तुरंत टॉवेल हटा दें और भाप न लें।
• अगर सर्दी-जुकाम में राहत मिल गई है तो ज्यादा भाप न लें।
• बच्चों, गर्भवती और अस्थमा के मरीजों को भाप लेते समय ज्यादा सावधानी बरतनी चाहिए।

Related Articles

Back to top button
Close