आगरा

सरकार रोजगार नहीं, रोजगार के अवसर दे सकती है : पूरन डावर

रोजगार भारती ने किया रोजगार प्रोत्साहन मेले के पोस्टर का विमोचन

liladhar pradhan 1000

 

आगरा : खंदारी स्थित सागर रत्ना रेस्टोरेंट में रोजगार भारती की ओर से 8 नवम्बर को लगने वाले रोजगार प्रोत्साहन मेले का पोस्टर विमोचन रोजगार भारती के संरक्षक पूरन डावर, महामंत्री सीए प्रमोद चौहान, कोषाध्यक्ष सर्वेश वाजपेयी, उपाध्यक्ष रेनूका डंग, विभाग सयोजक नितिन बहल एवं कार्यक्रम की व्यवस्था देख रहे रावी इवेंट के निर्देशक मनीष अग्रवाल ने किया। आगरा कॉलेज मैदान पर आयोजित हो रहे रोजगार प्रोत्साहन मेला प्रातः 11 बजे से 5 बजे तक बेरोजगार युवकों एवं महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए स्वरोजगार पर जानकारी दी जाएगी। स्वरोजगार के इच्छुक युवक-युवती या महिला पुरुष अपना पंजीकरण भी रोजगार मेला स्थल पर कराये जायेंगे। संरक्षक पूरन डावर ने बताया कि पढ़े-लिखे युवा स्वरोजगार को अपनाकर अपने जीवन को बेहतर बना सकते है। कोई भी कॉफी या चाय की रेड़ी लगाने वाला भविष्य में कॉफी कैफ़े डे का मालिक बन सकता है। सरकार रोजगार नहीं बल्कि रोजगार के बेहतरीन अवसर दे सकती है। महामंत्री सीए प्रमोद चौहान ने बताया कि रोजगार प्रोत्साहन मेले के उद्देश्य लोगो में स्वरोजगार के प्रति रूचि पैदा करना ताकि समाज में ऐसे लोगो के लिए सम्मान बढे। छोटे व्यवसाय को स्मार्ट तरीके से कैसे कर सकते हैं इसका प्रशिक्षण प्राप्त कर सकते हैं तथा स्वरोजगार स्थापित करने के लिए किस प्रकार से बैंकों से सहायता ले सकते हैं इसके लिए एक प्रदर्शनी मेले में लगायी जा रही है। उपाध्यक्ष रेनूका डंग ने कहा कि केंद्र एवं राज्य सरकार की योजनाओ की सही जानकारी से स्वरोजगार करने वाले लोगो को पता लगेगा की वह अपने व्यापर को कैसे बढ़ा कर अधिक से अधिक कमा सकते है। स्वरोजगार के रूप में बेरोजगार मुक्त नए भारत के सर्जन होगा। कोषाध्यक्ष सर्वेश वाजपेयी ने कहा कि कोरोना के बाद स्वरोजगार की उपयोगिता बढ़ी है। देश में साहित्य से ज्यादा रोजगार पर पीएचडी की जरुरत है। स्वरोजगार के तरीके में बदलाव लाकर नयी दिशा दी जा सकती है। मेले में सभी प्रमुख बैंकों की सहभागिता रहेगी। बैंक के प्रतिनिधि अपनी स्टाल पर मेले में स्वरोजगार की विभिन्न योजनाओं की जानकारी प्रदान करेंगे। इसके साथ सीएफटीआई, पीपीडीसी, एमएसएमई, डीआईसी आदि के भी प्रतिनिधि भी मेले में रहेंगे।

Related Articles

Back to top button
Close