आगरा

पेठा व्यापारियों को भी मिले सरकारी योजनाओं का लाभ : सोनू अग्रवाल

कोरोना ने तोड़ी व्यापारियों की कमर, शासन से लगाई लोन योजना की गुहार

liladhar pradhan 1000

 

आगरा : ताजनगरी में ताज के साथ साथ मशहूर पेठे की सुगंध भी देशी विदेशी पर्यटकों को अपनी ओर खीचती हैं। लेकिन कोरोना महामारी के चलते इस पेठे की सुगंध कुछ हद तक कम होने से सभी पेठे व्यवसायी काफी हद तक भुखमरी की कगार पर आ गये हैं। बैसे तो सरकार के निर्देशन के बाद शहर में अनलाक होने के बाद भी इस व्यापार में व्यापारी निरंतर घाटा उठा हो रहे हैं। उनका कहना था कि दुनिया भर में मशहूर आगरा के पेठे की मिठास खट्टी होती जा रही है। दीपावली जैसे त्यौहार पर कई जगह पेठा कारोबार बंद हैं। इस मामले हमारे संवाददाता ने पेठा व्यवसायी सोनू अग्रवाल से वार्ता की तो उन्होंने बताया कि दीपावली के त्यौहार पर पेठे की मांग भारत के कोने कोने पर आती थी। लेकिन कोरोना महामारी के चलते देशभर में लॉकडाउन लगने के कारण पेठा व्यापारियों को पहले ही काफी नुकसान का सामना करना पड़ा था लाखों रुपये तैयार किया गया पेठा खराब हो गया। उसके बाद अनलाक होने के बाद कर्जा लेकर काम की शुरूआत की लेकिन मांग कम होने की बजह से पेठा व्यापारी काफी आहत हो रहा हैं। हालांकि पेठा व्यापारियों को नए तरीके से पेठे का काम शुरू कर दिया लेकिन कारोबार में मुनाफा के लिये ज्यादा रकम लगानी पड़ रही हैं। ऐसे में पेठा व्यापारी ने केंद्र व राज्य सरकार से मांग की कि अगर अन्य व्यापारियों की तरह पेठा व्यापारियों को सहायता राशि व लोन की स्कीम लागू कर दी जाय तो पेठा व्यापारी अपने काम को अच्छी तरह से शुरू कर सकें। और फिर आगरा शहर के पेठे की मिठास दुनिया भर में पहले की तरह महकती रहे। पेठा व्यापारियों के लिए जल्द से जल्द लोन देने की घोषणा करें जिससे व्यापारियों को राहत की सांस मिल सके।

Related Articles

Back to top button
Close