आगरा

पूर्व ब्लाक प्रमुख पर हमलाबरों की ताबड़तोड़ फायरिंग, आरोपी फरार

liladhar pradhan 1000

 

आगरा : थाना सिकंदरा के गांव अकबरा मार्ग स्थित सिल्वर एस्टेट कॉलोनी के बाहर बीती शाम कार सवारों ने पूर्व ब्लाक प्रमुख राजवीर सिंह पर ताबड़तोड़ फायरिंग की। एक गोली सीने में और दो गोली पेट में मारी। एक और फायर किया, जो लगा नहीं। इसके बाद हमलावर कार से फरार हो गए। आरोप गांव के ही रिंकू सिकरवार पर है। इस हमले में पूर्व ब्लाक प्रमुख गंभीर रूप से घायल हो गए। उन्हें निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। पुलिस को नामजद तहरीर दी गई है। हमले के पीछे जमीन का विवाद व चुनावी रंजिश बताई जा रही है। जानकारी के लिये आपको बता दें कि थाना सिकंदरा क्षेत्र के गांव अकबरा निवासी राजवीर सिंह अछनेरा ब्लॉक के पूर्व में ब्लॉक प्रमुख रहे हैं। उनके छोटे भाई सत्यवीर के बेटे अजय ने बताया कि ताऊ जमीनों की खरीद फरोख्त करते हैं। उन्होंने राष्ट्रीय राजमार्ग से अकबरा गांव मार्ग पर सिल्वर एस्टेट कॉलोनी की प्लाटिंग की है। बीती शाम को अपने साझीदार गोपाल भदौरिया व अशोक प्रधान के साथ कॉलोनी में बैठकर बातचीत कर रहे थे। तभी एक फोन आने पर बाहर निकल आए। यहां पर गांव अकबरा निवासी रिंकू सिकरवार कार से अपने दो साथी के साथ आया। और कार से उतरते ही फायरिंग शुरू कर दी। पहले तीन गोली मारीं, इसके बाद चौथी गोली भी चलाई। मगर, वह लगी नहीं। राजवीर सिंह के लहूलुहान होकर गिरते ही आरोपी भाग गए। क्षेत्राधिकारी हरीपर्वत सौरभ दीक्षित ने बताया कि रिंकू सिकरवार पर गोली मारने का आरोप है। जमीन विवाद में गोली मारने की बात सामने आई है। आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही है। वह फरार हो गए हैं। गोली चलने की आवाज सुनकर आसपास अफरातफरी मच गई। मार्ग पर वाहन भी रुक गए। बाद में अन्य लोग पहुंच गए। तब तक हमलावर भाग गए। इसके बाद राजवीर सिंह को अस्पताल में लेकर पहुंचे, जहां उनको आईसीयू में भर्ती किया गया है। प्रत्यक्षदर्शियों ने पुलिस को बताया कि कॉलोनी के अंदर वारदात के लिए आधा घंटे पहले हमलावर आ गए थे। उनकी कार सीसीटीवी कैमरों के फुटेज में आ गई है। इसमें रिंकू सिकरवार नजर आ रहा है। पुलिस अब फुटेज से अन्य आरोपियों की पहचान के प्रयास में लगी है। पुलिस की पड़ताल में पता चला कि हमलावर रिंकू और उसके साथी पूर्व ब्लॉक प्रमुख को गोली मारने के बाद गांव से बाहर हाईवे की तरफ आए। यहां से कार को मथुरा की ओर लेकर चले गए। राजवीर के एक परिचित ने फरह टोल से पहले आरोपी रिंकू को मथुरा की ओर जाते देखा था। उसे रोकने का प्रयास किया लेकिन वह तेजी से निकल गया।

Related Articles

Back to top button
Close