आगरा

महिलाओं का सफर बनाया जायेगा और अधिक सुरक्षित : एडीजी रेलवे

ट्रेनों में लूटपाट करने वालें गिरफ्तार अपराधियों की खुलेगी हिस्ट्रीशीट

add 22
add 21
add 20
add 2
add 1
add 14
add 13
add 12
add 15

 

आगरा : ट्रेनों में महिलाओं के सफर को और अधिक सुरक्षित बनाने के लिए राजकीय रेलवे पुलिस में महिला पुलिसकर्मियों की संख्या बढ़ाई जाएगी। इससे कि रेलवे स्टेशनों पर और सफर से पहले किसी समस्या के सामने आने पर जीआरपी कांस्टेबिल उसका मौके पर निस्तारण कर सकें। एडीजी रेलवे पीयूष आनंद सोमवार को अपराध समीक्षा बैठक के दौरान अधिकारियों को इस संबंध में दिशा- निर्देश दिए। एडीजी रेलवे पीयुष आनंद सोमवार को सुबह दस बजे आगरा पहुंचे और जीआरपी लाइन का निरीक्षण किया। करीब एक घंटे तक वहां रहने के दौरान एडीजी ने कार्यालय के अभिलेखों, शस्त्रागार और मैस का मुआयना किया। इसके बाद उन्होंने अधीनस्थो के साथ बैठक करके ट्रेनों में हुए अपराधों और जीआरपी द्वारा की गयी कार्रवाई की समीक्षा की। एडीजी ने ट्रेनों में लूटपाट करने में गिरफ्तार बदमाशों की हिस्ट्रीशीट खोलने के निर्देश दिए थे। रेलवे के थानों द्वारा कितने बदमाशों की हिस्ट्रीशीट खोली गयी। उनके बारे में भी जानकारी की। इसके साथ ही एडीजी ने जेल जाने और छूटकर बाहर आने वाले बदमाशों की निगरानी करने के निर्देश दिए। साथ ही एडीजी रेलवे ने अधीनस्थो को यात्रा करने वाली महिलाओं की सुरक्षा पर विशेष् ध्यान देने की कहा। इससे कि वह सफर शुरू करने से पहले खुद को सुरक्षित महसूस कर सकें। एडीजी ने कहा कि रेलवे स्टेशन पर या बाहर पार्किंग में टैक्सी करने में कोई दिक्कत आती है तो महिला पुलिसकर्मी उसकी मदद को तत्पर रहे। इसी के साथ कहा कि आगामी त्यौहार दीपावली पर लोग अपने घरों को लौटते हैं। ऐसे में ट्रेनों में लूटपाट और जहरखुरानी कराने वाले गिरोह सबसे ज्यादा सक्रिय होते हैं। एडीजी ने इन गिरोहों के सदस्यों पर नजर रखने की कहा। पूर्व में जेल जा चुके जहर खुरानी गिरोह के सदस्य यदि छूटकर बाहर आ गए हैं तो उनके बारे में जानकारी जुटाने की कहा। साथ ही बताया कि इस साल ट्रेनों गांजा तस्करी के सबसे ज्यादा मामले पकड़ में आए। जीआरपी ने इस वर्ष 50 से ज्यादा गांजा तस्करों को गिरफ्तार किया। अधिकांश तस्करों ने सरगना के दिल्ली में होने की बताया। मगर, जीआरपी अभी तक उसके सरगना तक नहीं पहुंच पाई। इस पर एडीजी ने अधिकारियों को गांजा तस्करी पर विशेष नजर रखने के साथ ही उसके नेटवर्क को खत्म करने के लिये रेलवे पुलिस को निर्देशित किया।

Related Articles

Back to top button
Close