आगरा

श्रमिकों के लिये धार्मिक व पर्यटन यात्रा योजना प्रस्तावित -सुनील भराला

श्रम कल्याण परिषद के अध्यक्ष ने श्रम विभाग की योजनाओं की समीक्षा

liladhar pradhan 1000

 

आगरा : अध्यक्ष, श्रम कल्याण परिषद उ0प्र0 सुनील भराला ने मुख्य अतिथि के तौर पर में श्रम विभाग के अधिकारियों के साथ मण्डलीय समीक्षा बैठक में कहा कि चेतन चौहान श्रमिक खेल कल्याण योजना शुरू किया जाना प्रस्तावित है। जिसके अन्तर्गत श्रमिक के बच्चों द्वारा अन्तर्राष्ट्रीय खेल प्रतिस्पर्धा में प्रतिभाग करने पर रू0 एक लाख, राष्ट्रीय स्तर की प्रतिस्पर्धा में प्रतिभाग करने पर रू0 50 हजार, राज्य स्तर पर रू0 25 हजार तथा जनपद स्तर पर प्रतिस्पर्धा में प्रतिभाग करने पर रू0 10 हजार की आर्थिक सहायता दिये जाने का प्रस्ताव तैयार किया गया है। उन्होंने बताया कि श्रमिकों के लिये धार्मिक व पर्यटन यात्रा 05 दिन भ्रमण हेतु स्थलों का चयन कर प्रस्ताव तैयार किया गया है। साथ ही कहा कि श्रमिकों के कल्याण के लिये केन्द्र व प्रदेश सरकार द्वारा अनेक योजनायें संचालित की गई हैं। योजनाओं का व्यापक प्रचार-प्रसार सुनिश्चित किया जाय, जिससे सभी श्रमिकों को इन योजनाओं की जानकारी हो सकें। उन्होंने कहा कि उ0प्र0 श्रम कल्याण परिषद द्वारा संचालित योजनाओं की जानकारी सभी श्रमिकों को हो सकें, इसके लिये कारखानों पर बैनर/पोस्टर चस्पा कराया जाय। उन्होंने कैम्प का आयोजन कर अधिकाधिक श्रमिकों का पंजीयन कराने के निर्देश दिए, जिससे श्रमिक कल्याणकारी योजनाओं का लाभ उठा सकें, जिससे श्रमिकों एवं उनके बच्चों के सपने साकार हो सकें। अध्यक्ष ने सभी अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे जिम्मेदारी पूर्वक अपने कार्यों का निर्वहन कर श्रमिकों को जनकल्याणकारी योजनाओं से लाभान्वित करने में अपनी अहम भूमिका निभायें। पंजीयन के लिये जो भी लक्ष्य निर्धारित किये गये हैं, उन लक्ष्यों को शीघ्र पूर्ण किया जाय। उन्होंने कहा कि श्रमिक बन्धु की बैठक को पुनः शुरू कर दिया गया है। श्रमिक बन्धु की बैठक को नियमित रूप से आयोजित किया जाना सुनिश्चित किया जाय। अध्यक्ष ने कहा कि उ0प्र0 श्रम कल्याण परिषद द्वारा कारखाना अधिनियम 1948 तथा उ0प्र0 दुकान एवं वाणिज्य अधिष्ठान अधिनियम 1948 के अन्तर्गत पंजीकृत अधिष्ठानों में नियोजित श्रमिकों एवं उनके परिवार के कल्याणार्थ अनेक योजनायें संचालित की गयी हैं। यथा- गणेश शंकर विद्यार्थी पुरस्कार राशि योजनान्तर्गत पंजीकृत अधिष्ठानों में नियोजित श्रमिकों, जिनका वेतन रू0 15 हजार से अधिक न हो, ऐसे श्रमिकों के मेधावी पुत्र/पुत्रियों, जिन्होंने हाईस्कूल/इण्टर/स्नातक/परास्नातक की परीक्षा में 60 प्रतिशत् या उससे अधिक अंकों से उर्तीण किया हो, उन्हें उ0प्र0 श्रम कल्याण परिषद द्वारा पुरस्कार राशि प्रदान की जाएगी। सभी शर्ते पूरी करने पर रू0 15 हजार दिया जाता था, इस धनराशि को और बढ़ाने का प्रस्ताव तैयार किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इसी प्रकार डा0 ए0पी0जे0 अब्दुल कलाम प्राविधिक शिक्षा सहायता योजनान्तर्गत डिग्री पाठ्यक्रम के लिये रूपया 10 हजार प्रति अभ्यर्थी एकमुश्त प्रतिवर्ष, डिप्लोमा पाठ्यक्रम के लिये रूपया 08 हजार एवं 05 हजार प्राति अभ्यर्थी एकमुश्त प्रतिवर्ष दिया जाता है, इस आर्थिक सहायता को भी बढ़ाने का प्रस्ताव तैयार किया जा रहा है। ज्योतिबा फुले कन्यादान योजनान्तर्गत श्रमिकों की पुत्रियों के विवाहोत्सव पर कन्यादान के रूप में आर्थिक सहायता की राशि, राजा हरिश्चन्द्र मृतक आर्थिक सहायता योजनान्तर्गत श्रमिक की किसी कारणों वश मृत्यु हो जाने पर उनकी विधवा या आश्रितों को आर्थिक सहायता की राशि को भी बढ़ाया जायेगा तथा दत्तोंपत ठेगडी मृतक अन्तेष्टि सहायता योजनान्तर्गत दी जा रही आर्थिक सहायता को बढ़ाने का प्रस्ताव तैयार किया गया है। अध्यक्ष द्वारा मिशन शक्ति सप्ताह के उपलक्ष्य में उ0प्र0 भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड के तहत् 08 महिला लाभार्थियों को कुल रू0 950000 की धनराशि का प्रमाण-पत्र वितरण किया गया। इस अवसर पर महानगर अध्यक्ष भानू महाजन, सहायक श्रमायुक्त आगरा सर्वेश कुमारी एवं सुश्री पल्लवी अग्रवाल, श्रम प्रवर्तन अधिकारीगण आगरा राम मिलन, एस0बी0 सरोज, एस0एन0 नागेश, एस0के0 पाण्डेय, प्रवीन चन्द दत्त, शैलेन्द्र पाल सिंह, निलेश दीक्षित, सुप्रिया त्रिवेदी सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारीगण तथा आगरा स्लम फाउण्डेशन के संरक्षक चौधरी बलराम सिंह, विपिन शर्मा उपस्थित थे।

Related Articles

Back to top button
Close