आगरा

महिला शक्ति अभियान के तहत एसपी पूर्वी ने किया महिलाओं एवं बालिकाओं को जागरूक

महिला कांस्टेबलों ने बच्चियों को विषम परिस्थितियों में बचाव के लिए दिए टिप्स

liladhar pradhan 1000

 

पिनाहट। प्रदेश में सरकार एवं द्वारा प्रशासन द्वारा चलाए जा रहे मिशन शक्ति के तहत थाना बसई अरेला क्षेत्र के मेवाराम हरप्रसाद महाविद्यालय में दर्जनों की संख्या में एकत्रित महिलाओं एवं बालिकाओं को एसपी पूर्वी ने जागरूक किया।की पुलिस ने क्षेत्र की बच्चियों को बुलाकर सम्मान के साथ महिला शक्ति अभियान के तहत जागरूक किया गया। महिलाओं एवं बच्चियों की झिंझक एवं डर को दूर करने पुलिस कंट्रोल रूम कैसे सूचित करें इसके बारे में पूरी तरह से समझा गया। जानकारी के अनुसार थाना बसई अरेला क्षेत्र के अंतर्गत मेवाराम हरप्रसाद महाविद्यालय में सोमवार को क्षेत्र की महिलाएं, बालिकाओं ,बच्चियों सहित उनके अभिभावकों को सम्मान के साथ बुलाया गया जहां दर्जनों की संख्या में महिलाएं बच्चियां एवं बालिका सहित अभिभावक पहुंचे, वही सरकार द्वारा चलाए जा रहे महिला शक्ति अभियान के तहत एसपी पूर्वी आगरा प्रमोद कुमार ने जागरूक किया गया। उन्होंने उनकी झिझक और डर को दूर करने के लिए महिलाओं, बच्चियों, बालिकाओं, बच्चों के साथ घटित अपराधों से अवगत कराते हुए, उनकी रोकथाम कानूनी प्रक्रिया के तहत विधि प्रावधान सहायता प्राप्त किए जाने के लिए शासन प्रशासन के टोल फ्री नंबर के बारे में बताया उपस्थित महिलाओं एवं बालिकाओं को महिला मिशन शक्ति के बारे में विस्तार से जानकारी दी बताया किसी अपराध या संभावनाओं को लेकर संकोच न करने निडर होकर अपनी बात रखने के लिए एवं पुलिस से अपनी शिकायत, पुलिस कंट्रोल रूम को फोन कर कैसे सहायता ले सकते हैं । वहीं थानाध्यक्ष शेर सिंह ने सभी मौजूद महिलाओं बच्चियों को संबोधित करते हुए बारीकी से महिला सशक्तिकरण के बारे में जानकारी देते हुए निम्न प्रकार की जानकारी दी, विषम परिस्थितियों में किस तरीके से निपटा जाए और कैसे हैं पुलिस सहायता तत्काल ली जाए इसके लिए समझाया, कहां किसी से डरने की जरूरत नहीं है 24 घंटे पुलिस उनके साथ है। महिला शक्ति के बारे में जागरूक करते हुए महिला कांस्टेबलों ने बच्चियों को विषम परिस्थितियों में बचाव के लिए टिप्स दिए, असामाजिक तत्वों द्वारा महिला बच्चियों के साथ कोई हरकत की जाती है। वह पुलिस को तत्काल सूचित करें। एसपी पूर्वी द्वारा पुलिस को सार्वजनिक, बाजारों, माॅल, कॉलेज, कोचिंग, संस्थान अन्य स्थानों पर असामाजिक तत्वों से मुक्त कराए जाने एवं किसी भी महिलाओं एवं छात्राओं से छेड़खानी, अभद्रता, अश्लील प्रदर्शन तथा अभद्र टिप्पणी इत्यादि की घटनाओं को रोकने के उद्देश्य कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए हैं।

Related Articles

Back to top button
Close