आगरा

पटाखा फैक्ट्री में लगी आग, हुआ तेज धमाका दहली ताजनगरी

उड़ी मकान की छत, चार लोगों की मौत, आधा दर्जन घायल

liladhar pradhan 1000

 

आगरा : थाना शाहगंज क्षेत्र स्थित आजमपाड़ा में रविवार दोपहर तकरीबन 12.40 बजे तेज धमाका होने से समूचे क्षेत्र हलचल मच गई। यहां एक घर में आतिशबाजी बनाई जा रही थी। भीषण धमाके के साथ टिनशेड और कमरे की छत उड़ गई। विस्फोट इतना भीषण था कि आसपास के घरों पर भी ईंट के टुकड़ों और आतिशबाजी के अवशेषों की बरसात हुई। घर में मौजूद चार लोगों की मौत हो गई। जबकि दो बच्च्चों समेत चार को गंभीर हालत में एसएन इमरजेंसी में भर्ती कराया गया है।

एलपीजी गैस सलेंडर में लीकेज से आग लगी घर में रखे पटाखों तक पहुंच गई इस कारण तेज धमाका हो गया। जिस घर में यह धमाका हुआ, उनका मुगल फायरवर्क्स के नाम से आतिशबाजी का ब्रांड है, जिसका लाइसेंस जिले के गांव मिढ़ाकुर का था। और वो अबैध तरीके से शाहगंज क्षेत्र में फैक्ट्री का संचालन कर रहे थें। ये धमाका इतना तेज था कि आस पास के मकानों में भी दरार आ गई। धमाके की आवाज सुनकर आसपास के इलाकों में दहशत का माहौल बन गया और लोग देखने के लिये अपने घरों से निकल कर घटनास्थल पर पहुंच गये। और धमाके की सूचना पुलिस व दमकल विभाग को दी गई। मौके पर पहुंची दमकल की गाड़ियां आग बुझाने में जुट गईं।

इस दौरान पुलिस अधीक्षक नगर रोहन पी बोत्रे ने बताया कि थाना शाहगंज क्षेत्र के आजमपाड़ा निवासी शेरू के मकान में गैस सलेंडर फटने से आतिशबाजी में आग लग गई जिस कारण इतना बड़ा धमाका हो गया इस घटना में चार लोगों की मृत्यु हो गई है व घायल लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया है। इस घटना में आसमां पुत्री चमन मंसूरी, अरसद पुत्र चमन मंसूरी और पच्चा घायल हुए हैं। फरमान पुत्र जफरुद्दीन शेरू, शकील और आविद समेत चार लोगों की मौत हुई है। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार बताया जा रहा था कि आतिशबाजी में विस्फोट के बाद तकरीबन आधा घंटे तक रुक-रुक कर धमाके होते रहे। पड़ोसी चंदा सहित अन्य के घरों में चलते हुए पटाखे गिरे। तकरीबन 15 मिनट तक पटाखे गिरते रहे, जिससे लोग दहशत में आ गए।

धमाका इतनी तेज था कि घर में रहने वालों के अंगों के चिथड़े उड़ गए। आसपास के घरों की छतों पर परिजनों के अंग बिखरे पड़े थे। प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि सलेडर में विस्फोट के बाद घर में रखी आतिशबाजी से धमाका हुआ। पुलिस पूरे मामले की छानबीन कर रही है। एसएन मेडिकल कॉलेज में चिकित्सकों की टीम घायलों का इलाज करने में जुटी है।

Related Articles

Back to top button
Close