आगरा

आलू किसानों के दर्द को समझें प्रदेश सरकार : श्याम सिंह चाहर

liladhar pradhan 1000

 

आगरा : प्रदेश सरकार व उद्यान विभाग द्वारा किसानों के आलू निकालने व कोल्ड बंद करने के लिये कोल्ड स्टोर स्वामियों को निर्देश जारी किये जाने पर किसान नेता श्याम सिंह चाहर व अन्य सहयोगियों ने आक्रोश व्यक्त कर आरोप लगाया कि जब आलू 200 रूपये प्रति पैकेट बिक रहा था तो प्रदेश सरकार ने पूर्व में दिसंबर तक के कोल्ड चलाने के निर्देश कोल्ड स्वामियों को दिए गये थे। लेकिन इस बर्ष आलू किसानों को आलू का भाव अच्छा मिल रहा हैं तो सरकार द्वारा कोल्ड को जल्द बंद करने के निर्देश क्यों दिये गये हैं। अब किसानों का दर्द समझने का नंबर आया तो कोल्ड को पूर्व समय से जल्द बंद करने के निर्देश जारी कर किसानों की कमर तोडने का कार्य किया जा रहा हैं। किसान नेता ने बताया कि आलू की सही दाम ना मिलने के कारण उत्तर प्रदेश में पिछले चार बर्षो में सैकड़ों की संख्या में आलू किसानों ने आत्महत्या कर ली। और प्रदेश सरकार व जनप्रतिनिधि आज तक आलू किसानों के लिए आगरा में कोई प्रोजेक्ट नहीं लगवा पाए ना ही उनकी चिंता व्यक्त की। प्रदेश सरकार को किसानों को बर्बाद करने का जो नियत है इस नियत को कभी किसान सफल नहीं होने देगा। साथ ही एक तथाकथित किसान नेता पर निशाना साधते हुये कहा कि आगरा में एक तथाकथित किसान नेता ने किसान हित में आलू प्रोसेसिंग यूनिट लगाने के लंबे चौड़े वादे किए और जगह जगह जिले भर में होर्डिंग भी लगवाए लेकिन आज तक कागजों में दर्ज नहीं करवा पाये। साथ ही कहा कि केंद्र व राज्य सरकार झूठ बोल कर अपना काम निकालने के लिये किसानों व गरीबों का शोषण कर रही हैं।

Related Articles

Back to top button
Close