आगरा

स्वास्थ्य केंद्रों, आंगनवाड़ी केंद्रों पर मनाया गया हाथ धुलाई दिवस

liladhar pradhan 1000

 

आगरा : विश्व हाथ धुलाई दिवस के मौके पर गुरुवार को जनपद आगरा में सभी स्वास्थ्य केंद्रों व आंगनवाड़ी केंद्रों पर हाथ धोने को लेकर जागरुकता कार्यक्रम चलाया गया। इस मौके पर जीवनी मंडी शहरी स्वास्थ्य केंद्र पर प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारियों की टीम द्वारा हाथ धोने के बारे में नुक्कड़ नाटक के जरिये हाथ धोने के फायदे बताये गये। उन्होंने नुक्कड़ नाटक के जरिये बताया कि कोविड-19 महामारी के दौर में हाथ की सफाई करना और ज्यादा जरूरी हो गया है।

जीवनी मंडी शहरी स्वास्थ्य केंद्र प्रभारी डॉ. मेघना शर्मा ने बताया कि हाथों की सफाई सभी के लिये बेहद जरूरी है, अच्छी तरह से हाथ धोने से दस्त और निमोनिया सहित कई बीमारियों, सर्दी जुकाम पेट सम्बन्धी और वायरल का खतरा कम हो जाता है। उन्होंने बताया कि हाथों को साफ करने से न केवल कोरोनावायरस से बचाव संभव है बल्कि ये अन्य कई बैक्टीरिया और संक्रमण से भी आपकी रक्षा करता है। हरीपर्वत शहरी स्वास्थ्य केंद्र पूर्वी द्वारा करबला में विश्व हाथ धुलाई दिवस पर महिलाओं को हाथ धोने का प्रशिक्षण दिया गया। इसमें केंद्र की प्रभारी डॉ. मनु शर्मा ने महिलाओं को हाथों की सफाई का महत्व समझाया।

वहीं, बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग द्वारा जनपद के सभी आंगनवाड़ी केंद्रों पर भी हाथ धुलाई दिवस को लेकर प्रशिक्षण कार्यक्रम किये गये। जिला कार्यक्रम अधिकारी साहब यादव ने बताया कि हाथों की सफाई बेहद जरूरी है। उन्होंने बताया कि विश्व भर में लाखों लोगों को साबुन से नियमित हाथ धोने के स्वास्थ्य लाभों के बारे में जागरूक करने के लिये ग्लोबल हैंडवॉशिंग पार्टनरशिप द्वारा 2008 में ग्लोबल हैंडवाशिंग डे की शुरूआत की गई थी। प्रतिवर्ष 15 अक्टूबर को विश्व-हैंडवाशिंग डे मनाया जाता है।

इसके अलावा जेतपुर कलां, यूपीएचसी लोहामंडी-2, सीएचसी पिनाहट, सीएचसी फतेहपुर सीकरी, सीएचसी शमसाबाद, बिचपुरी, सीएचसी सैंया, सीएचसी अछनेरा आदि स्वास्थ्य केंद्रों पर यूनिसेफ के प्रतिनिधियों व स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों द्वारा कार्यक्रम किये गये। इस मौके पर विभिन्न स्वास्थ्य केंद्रों पर यूनिसेफ की बीएमसी सना, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता शमा, स्टाफ नर्स किरन सहित स्वास्थ्य विभाग के अन्य लोग मौजूद रहे।

Related Articles

Back to top button
Close