आगरा

संगीता राजावत की मौत के बाद सवर्णो ने घेरा जिला मुख्यालय

सरकार से एससी एसटी एक्ट को बैन लगाने की मांग, दिया ज्ञापन

liladhar pradhan 1000

 

आगरा : ताजगंज थाना क्षेत्र के नगला कली स्थित पुष्पाजंली ईको सिटी में रिटायर्ड फौजी की पत्नी की जलकर मौत और एससी एसटी एक्ट के दुरुपयोग को लेकर सवर्ण समाज के लोगों में आक्रोश जिला मुख्यालय पर प्रदर्शन के दौरान दिखा। इस दौरान अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा व जनसत्ता दल लोकतांत्रिक पार्टी के नेतृत्व में सवर्ण समाज ने एससी एसटी एक्ट को बैन करने की मांग उठाते हुए जिला प्रशासन को ज्ञापन सौंपा। इस दौरान जनसत्ता दल लोकतांत्रिक पार्टी के जिलाध्यक्ष यमराज सिंह ने कहा कि एससी एसटी एक्ट के फर्जी मुकदमे के माध्यम से ईको सिटी निवासी पूर्व फौजी के परिवार का शोषण किया गया और उनकी पत्नी को मानसिक यातनायें देकर मौत के घाट उतार दिया। देश के हर समाज की रक्षा करने वाला क्षत्रिय समाज का शोषण किया जा रहा हैं जो कि बर्दाश्त नही किया जायेगा। हमारी केंद्र व राज्य सरकार से मांग हैं कि इस काले कानून पर रोक लगाई जाय ताकि समाज के साथ इस तरह की घटना घटित ना हो सके। वहीं अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा के प्रदेश अध्यक्ष राजीव चौहान ने कहा कि सर्व समाज की रक्षा करना क्षत्रिय का धर्म है कि लेकिन देखने में आ रहा है कि योगी सरकार को बदनाम करने के लिए जगह-जगह सर्व समाज को निशाना बनाया जा रहा है। एससी एसटी एक्ट देश को दीमक की तरह खा रहा है। आरक्षण लेकर सीट पर बैठे अधिकारी भी ऐसी घटनाओं के लिए जिम्मेदार हैं। वही अन्य पदाधिकारियों का कहना था कि ज्ञापन के माध्यम से हमने एससी एसटी एक्ट को बैन करने की मांग उठाई है। इस एक्ट की आड़ में लोग धंधा करने लगे हैं। भविष्य में ताजगंज क्षेत्र जैसी घटना की पुनरावृत्ति ना हो इसके लिए हम सड़क से लेकर संसद तक लड़ाई लड़ने को तैयार हैं। कलेक्ट्री में प्रदर्शन करने के दौरान लोगों ने ताजगंज पुलिस पर भी एकतरफा कार्रवाई के भी आरोप लगाए हैं। बहरहाल जिला प्रशासनिक अधिकारी ने ज्ञापन लेकर सवर्ण समाज को उनकी बात सरकार तक पहुंचाने का आश्वासन दिया है।

Related Articles

Back to top button
Close