आगरा

रेलवे पुलिस के मॉक ड्रिल आयोजन में हुआ अचानक पथराव, मची अफरा तफरी

liladhar pradhan 1000

 

आगरा : कैण्ट स्टेशन के सर्कुलेटिंग एरिया में अचानक उस समय अफरा तफरी मच गई जब भारी संख्या में लोग प्रदर्शन करते हुए स्टेशन के बाहर तक पहुँच गए। स्टेशन पर प्रदर्शन की सूचना मिलते ही आरपीएफ व जीआरपी के जवान व अधिकारी मौके पर पहुँच गए। जीआरपी व आरपीएफ के जवानों ने प्रदर्शनकारियों को समझाने का प्रयास किया लेकिन प्रदर्शनकारियों ने पथराव शुरू कर दिया। प्रदर्शनकारियों की ओर से पथराव होने पर आरपीएफ व जीआरपी को भी बल का प्रयोग करना पड़ा और प्रदर्शनकारियों को खदेड़ा जिससे सर्कुलेटिंग एरिया में भगदड़ मच गई। इस दौरान जीआरपी व आरपीएफ जवानों के हत्थे जो चढ़ा उसकी जमकर पिटाई हुई और उसे थाने ले जाया गया। इस घटना के बाद जब लोगों को मॉकड्रिल की जानकारी हुई तो सभी ने राहत की सांस ली।

गुरुवार को जीआरपी और आरपीएफ ने मिलकर आगरा कैंट स्टेशन के बाहर सर्कुलेटिंग एरिया में एक मॉक ड्रिल का आयोजन किया। यह मॉकड्रिल कृषि बिल व रेलवे निजीकरण के विरोध में चल रहे प्रदर्शनों को लेकर थी कि अगर प्रदर्शनकारी रेलवे ट्रैक को कब्जा लें और स्टेशनों पर प्रदर्शन करें तो उनसे कैसे निपटा जाए। मौके पर मौजूद एसपी रेलवे और आरपीएफ कमांडेंट ने बताया कि समय समय पर इस तरह की मॉकड्रिल कराई जाती है जिससे देश में चल रही परिस्थितियों के कारण रेलवे ट्रैक व स्टेशन पर कोई अप्रिय घटना हो तो उससे निपटने के लिए जीआरपी व आरपीएफ जवान तैयार रहे। एसपी रेलवे और आरपीएफ कमांडेंट ने बताया कि उस समय कृषि बिल और रेलवे के निजीकरण के विरोध में लगातार प्रदर्शन चल रहे है। अगर आगरा मंडल में ऐसी कोई स्थिति बनती है तो जवान हर परिस्थिति से निपटने में सक्षम हो। इस मॉकड्रिल के दौरान हुए प्रदर्शन में पहले शांति से प्रदर्शनकारियों को समझाया गया जब उन्होंने पथराव किया तब बल का प्रयोग करना पड़ा।

Related Articles

Back to top button
Close