मथुरा

गोवर्धन तहसील प्रशासन ने लगाई चहेते शिक्षकों की बी एल ओ ड्यूटी

add 22
add 21
add 20
add 2
add 1
add 14
add 13
add 12
add 15

मिशन इंडिया न्यूज़ संवाददाता- पवन शर्मा  

गोवर्धन। ग्राम पंचायत निर्वाचन के मद्देनजर शासन के आदेश के क्रम में मतदाता सूची के पुनरीक्षण कार्य हेतु बी एल ओ नियुक्त किये जा रहे हैं इस कार्य में शिक्षकों को बी एल ओ कार्य में लगाया जा रहा है। इसके लिए शिक्षकों की सूची खंड शिक्षा अधिकारी गोवर्धन द्वारा उपजिलाधिकारी गोवर्धन को उपलब्ध कराई गई जिसके क्रम में उपजिलाधिकारी गोवर्धन द्वारा शिक्षकों को बी एल ओ नियुक्त किया गया और उनका प्रशिक्षण भी करवाया गया इस सबके बाद तहसीलदार गोवर्धन के कुछ कृपापात्र शिक्षकों ने सुविधा शुल्क उगाहकर तहसीलदार गोवर्धन के हस्तक्षेप से 15 बी एल ओ शिक्षकों की ड्यूटी कटवा दी इसका प्राथमिक शिक्षक संघ गोवर्धन ने कल विरोध करते हुए उपजिलाधिकारी गोवर्धन से मुलाकात की उन्होंने खंड शिक्षा अधिकारी गोवर्धन को बुलाकर बी एल ओ लिस्ट को सही करने को कहा हद तो तब हो गई जब खंड शिक्षा अधिकारी गोवर्धन ने उस लिस्ट को सही करने की बजाय अपने चहेते कुछ शिक्षकों की और ड्यूटी काटते हुए उस लिस्ट को अंतिम रूप प्रदान कर दिया जैसे ही शिक्षकों ने ड्यूटी लिस्ट को देखा तो उन्होंने प्राथमिक शिक्षक संघ के बैनर तले कार्यालय खंड शिक्षा अधिकारी गोवर्धन पर एकत्रित होकर इस बी एल ओ ड्यूटी लिस्ट का विरोध किया और उस लिस्ट में कई खामियों को गिनाते हुए धरना प्रदर्शन की चेतावनी दी। शिक्षकों का कहना है कि शासनादेश में साफ अंकित है कि नम्बर 1 पर बी एल ओ कार्य हेतु लेखपाल लगाए जाएं लेकिन उस शासनादेश को ताक पर रखकर लेखपालों को बी एल ओ न लगाते हुए शिक्षकों को इसमें लगाया गया है। इसके अलावा सुपरवाइजर हेतु तहसीलदार गोवर्धन ने अपने चहेते सहायक अध्यापक प्रथमिक विद्यालय को लगाया है जबकि इस कार्य पर हैडमास्टर या सीनियर बेसिक स्कूल के टीचर को लगाया जाता है। शिक्षकों की मांग है कि बी एल ओ ड्यूटी की सबसे पहली लिस्ट को ही बहाल रखा जाय जिन शिक्षकों की ड्यूटी अकारण कटी है उनकी ड्यूटी न काटी जाय। आज प्राथमिक शिक्षक संघ के जनपद स्तरीय पदाधिकारी मुकेश कुंतल और बिपिन गौड़ के नेतृत्व में रोहित शर्मा, पवन, अमर सिंह, वेदवीर, राजेन्द्र, गिर्राज शरण, दिनेश सिंह , कुंवरजी, अशोक बौद्ध सहित सैकड़ों शिक्षक इस विरोध प्रदर्शन में मौजूद रहे।

Related Articles

Back to top button
Close