मथुरा

सेटेलाइट इमेजरी सिस्टम से बनेगा मथुरा-वृंदावन का नया मास्टर प्लान

एजेंसी जी आई एस सैटेलाइट इमेज को मिला मास्टर प्लान बनाने का ठेका

liladhar pradhan 1000

मिशन इंडिया न्यूज़ संवाददाता-  पवन शर्मा  

मथुरा : मथुरा वृंदावन का अगला मास्टर प्लान सैटेलाइट इमेजरी सिस्टम से तैयार होगा। इसमें सेटेलाइट के माध्यम से पहले जमीन का पता किया जाएगा। इसके उपरांत यह चिन्हित किया जाएगा कि कितनी जमीन हरियाली के लिए छोड़नी है और कितनी आवासीय व अन्य कार्यों के लिए। आने वाले वक्त में नए मास्टर प्लान में वाहन चार्ज के लिए भी व्यवस्था होगी। इसके अलावा बिल्डिंग की ऊंचाई में भी अंतर आएगा। वृंदावन विकास प्राधिकरण में आगामी 10 वर्ष के लिए मास्टर प्लान (महायोजना) योजना तैयार करने की प्लानिंग युद्ध स्तर पर चल रही है। प्राधिकरण क्षेत्र में सरकार द्वारा नामित एक एजेंसी जी आई एस सैटेलाइट इमेज के माध्यम से सर्वे करने में जुटी हुई है। एमवीडीए के उपाध्यक्ष आईएएस नगेंद्र प्रताप ने बताया कि 2021 से नया मास्टर प्लान आगामी 10 साल 2031 तक के लिए लागू होना है। इसके लिए एजेंसी द्वारा स्थलीय सर्वे किया जा रहा है। नगर निगम जल निगम सिंचाई विभाग लोनिवि मथुरा रिफायनरी आदि सरकारी विभागों से डाटा एकत्रित कर उनकी प्लानिंग को मास्टर प्लान में शामिल कर लिया गया है। सर्वे में दुकान घर व्यवसाय कंपलेक्स आदि की गणना की जा रही है। सर्वे के आधार पर ही मास्टर प्लान को पूर्ण रूप दिया जाना है ।

पुराने मास्टर प्लान की अवधि खत्म

पुराने मास्टर प्लान की अवधि इस साल समाप्त हो रही है। प्राधिकरण द्वारा मास्टर प्लान के मुताबिक ही लैंड यूज़ को देखते हुए नक्शा स्वीकृत किए जाते हैं। मास्टर प्लान मथुरा वृंदावन के अलावा कोसी छाता गोवर्धन फरह आदि जिले के विकसित एरिया में लागू होगा। यह एरिया विकास प्राधिकरण की सीमा में आते हैं।

Related Articles

Back to top button
Close