एटा

सब्जी, फड़ विक्रेता तथा टाॅफी बेचने वाले तक को दिया जाये पी0एम0 स्वनिधि योजना का लाभ

पात्र व्यक्तियों का आधार कार्ड, बैंक एकाउन्ट से मोबाइल लिंक कराया जाए

liladhar pradhan 1000

 

एटा : कोविड- 19 संक्रमण की प्रभावी रोकथाम के लिए देश में लाॅकडाउन लागू होने के पश्चात जब अनलाॅक की प्रक्रिया शुरू की गई तो पाया कि देश में पंजीकृत, अपंजीकृत श्रमिकों एवं शहरी पथ विक्रेताओं-हाथ ठेला, वर्ग विक्रेता यथा चाॅट, सब्जी, फल एवं फुटपाठ पर विभिन्न प्रकार की मजदूरी परक कार्य करने वालांे के समक्ष बेरोजगारी, आर्थिक समस्या की विकट स्थिति उत्पन्न हो गई। देश के मा0 प्रधानमंत्री जी एवं प्रदेश के मा0 मुख्यमंत्री जी द्वारा स्ट्रीट वेण्डर्स का दर्द महसूस करते हुए आत्मनिर्भर भारत के अन्तर्गत ऐसे लोगो के रोजगारों में नई जान फूंकने के लिए पी0एम0 स्वनिधि आत्मनिर्भर भारत योजना की शुरूवात करते हुए वर्तमान में उन्हें अपने रोजगार को फिर से मजबूती के साथ आगे बड़ाने के लिए पी0एम0 स्वनिधि योजना के अन्तर्गत स्ट्रीट वैण्डर को 10 हजार रूपये दिये जाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। शासन द्वारा मण्डल में कुल 78583 स्ट्रीट वेण्डर्स को लाभान्वित करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है जिसमें जनपद अलीगढ़ के सभी नगर निकायों में 56492, एटा में 7464, कासगंज में 7328 एवं जनपद हाथरस में 7599 स्ट्रीट वेण्डर्स शामिल हैं।

मण्डलायुक्त जी.एस. प्रियदर्शी ने  मुख्यमंत्री जी की शीर्ष प्रार्थमिकताओं में शामिल इस योजना का लक्ष्य शत-प्रतिशत लक्ष्य प्राप्त करने के लिए वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से मण्डलीय समीक्षा में व्यक्त किये। मण्डलीय समीक्षा में जिसमें जनपद अलीगढ, एटा, कासगंज, हाथरस के प्रभारी अधिकारी स्थानीय निकाय, अपर नगर आयुक्त, मुख्य कर निर्धारण अधिकारी नगर निगम, अलीगढ़ एवं समस्त नगर पालिका परिषद, नगर पंचायत के अधिशासी अधिकारी शामिल हुए। मण्डलायुक्त ने मण्डलीय समीक्षा में निर्देश दिये कि सभी निकाय पात्र लाभार्थियों के आवेदन लक्ष्य के सापेक्ष 125 प्रतिशत के आधार पर आॅनलाइन प्रक्रिया पूर्ण कराकर सम्बन्धित बैंको को भेज दें। उन्होंने कहा कि साईकिल, दोपुहिया वाहन पर फेरी लगाने वाले, बाॅस के फ्रेम पर बच्चों के खिलोने, गुब्बारे, स्वीट केन्डी बेचने वालों के साथ ही फड़ लगाकर सब्जी, फल तथा पशुओं का चारा आदि बेचने वालों पर अभी तक किसी का ध्यान नहीं गया है, ऐसे लोगों का चिन्हांकन करते हुए इनको भी इस योजना में अवश्य शामिल किया जाये।

प्रियदर्शी ने निकाय स्तर पर ऐसे वैण्डिंग जोन स्थापित करने के निर्देश दिये जहां प्रत्येक स्ट्रीट वैण्डर को पर्याप्त स्थान के साथ-साथ पीने का पानी, प्रकाश, सफाई की समुचित व्यवस्था के साथ ही सोशल डिस्टेसिंग का पूरी तरह पालन हो सकें। उन्होंने कहा कि ऐसे वैण्डिंग जोन के लिये एक सप्ताह में सम्बन्धित निकाय द्वारा कार्यवाही पूर्ण करते हुए अनुपालन आख्या अपर जिलाधिकारी, प्रभारी अधिकारी स्थानीय निकाय के माध्यम से प्रस्तुत की जाये। उन्होंने कहा कि निकाय स्तर पर वार्डवार स्ट्रीट वैण्डर कमेटी बनाने की कार्यवाही तो की गई है किन्तु वह इतनी क्रियाशील नहीं है। जिसके कारण योजना का प्रचार-प्रसार व्यापक स्तर पर नहीं हो पा रहा है। इन कमेटियों को तत्काल सक्रिय करते हुए कमेटियों में पार्षद, सदस्य को अनिवार्य रूप से शामिल कर स्ट्रीट वैण्डर की भी अधिक से अधिक सहभागिता सुनिश्चित की जाये एवं निकाय स्तर पर ऐसी कमेटी की बैठकों को करते हुए समाचार पत्रों एवं सोशल मीडिया के माध्यम से उनका व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाये। समीक्षा में जनपद एटा की खराब प्रगति पर पी0ओ0 डूडा एवं निकायों के अधिशासी अधिकारियों को आवेदन फार्म 15 अक्टूबर, 2020 तक पूर्ण किये जाने का लक्ष्य दिया। अपर जिलाधिकारी/प्रभारी अधिकारी स्थानीय निकाय एटा के होम आइसोलेट होने के कारण कार्यकारी जिलाधिकारी एटा द्वारा समीक्षा कर समय से लक्ष्य पूरा कराने के लिए आश्वस्त किया गया।

प्रियदर्शी ने समीक्षा में पाया कि पात्र व्यक्ति का आधार कार्ड एवं बैंक एकाउन्ट मोबाइल लिंक न होना भी गम्भीर समस्या है, जिसके लिए पात्र व्यक्ति का आधार कार्ड, बैंक एकाउन्ट, मोबाइल आदि प्रक्रिया पूर्ण कराने के लिए डूडा, निकायों को पूर्व में निर्देश दिये गये कि किन्तु उक्त की जानकारी सम्बन्धित पात्र व्यक्ति को न होने के कारण उसका आवेदन आॅनलाइन नहीं हो पा रहा है। जबकि योजना का लक्ष्य पूरा करने के लिए यह आवश्यक महत्वपूर्ण कदम है। मण्डल में जनपद हाथरस की प्रगति सर्वोच्च है। नगर पालिका परिषद, सिकन्दराराऊ द्वारा सबसे अधिक लोन कराये गये है। उन्होंने निर्देश दिये कि निकाय स्तर पर आधार लिंक मशीनों को ऐसे कार्यो में लगाकर कार्यो को पूरा किया जाये और व्यापक प्रचार-प्रसार करने के लिए जन सेवा केन्द्र, सी0एच0सी0 व निकायों के वार्डो में ऐसे स्थल जहां पर सुगमता से यह कार्य किया जा सकें उनको पूर्ण कराया जाये।

इस दौरान कोविड-19 संक्रमण की रोकथाम का प्रोटोकाॅल जैसे सोशल डिस्टेसिंग, मास्क, सेेनेटाईजर का पालन किया जाये। मण्डलायुक्त ने निर्देशित किया कि पी0एम0 स्वनिधि योजना का लाभ प्रत्येक पात्र व्यक्ति को दिये जाने के लिये निकायो/डूडा के द्वारा किये कार्यो की साप्ताहिक मण्डलीय समीक्षा सूचनाओं के माध्यम से सप्ताह के प्रत्येक सोमवार को की जायेगी और आगामी बैठक में योजना का लक्ष्य शत-प्रतिशत किये जाने के निर्देश के साथ समीक्षा बैठक का समापन किया गया।

Related Articles

Back to top button
Close