आगरा

वीडियो कांफ्रेंसिंग से मुख्यमंत्री ने जाना उद्योग जगत से जुडे़ लोगों का हाल

liladhar pradhan 1000

 

आगरा : उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से समीक्षा बैठक की है। इस बैठक में उद्योग जगत से जुड़े लोगों से उनकी समस्याओं को पूछा गया। साथ ही डिफेंस इंडिस्ट्रयल कॉरिडोर के लिए आगरा में भूखंड उपलब्धता के बारे में भी जानकारी हासिल की। दरअसल यहां अभी तक जमीन का उपलब्ध न होना इस प्रोजेक्ट में अड़चन पैदा कर रहा है। आगरा कलक्ट्रेट सभागार में सोमवार सुबह उद्योग जगत से जुड़े लोगों का मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ ई-संवाद कराया गया। आगरा में जिलाधिकारी प्रभु एन सिंह के अलावा एफमैक के अध्यक्ष पूरन डावर, लघु उद्योग भारती के अध्यक्ष भूपेश अग्रवाल, नेशनल चैंबर के उपाध्यक्ष राजेंद्र गुप्ता और एसोचैम से मनीष अग्रवाल इस दौरान मौजूद रहे। डिफेंस इंडिस्ट्रयल कॉरिडोर के लिए जमीन के अलावा ताजनगरी में उ्दयोगों के सामने आ रहीं दिक्कतों के बारे में भी पूछा गया। इस दौरान जिला उद्योग केंद्र महाप्रबंधक शरद टंडन ने बताया कि जिले में डिफेंस इंडस्ट्रीयल कॉरिडोर के लिए जमीन खोजे नहीं मिल रही है। अब तक दो बार सर्वे हो चुके हैं। जो जमीन मिल भी रही है। वह रोड से दूर है या फिर संपर्क मार्ग ठीक नहीं है। ऐसे में उस क्षेत्र में नए उद्योग लगना आसान नहीं होगा। जल्द ही इसे लेकर फिर से बैठक होने जा रही है। उप्र एक्सप्रेसवेज औद्योगिक विकास प्राधिकरण (यूपीडा) डिफेंस इंडस्ट्रीयल कॉरिडोर विकसित कर रहा है। यह अलीगढ़, आगरा, झांसी, चित्रकूट, कानपुर होते हुए लखनऊ पहुंचेगा। इस कॉरिडोर में देशी-विदेशी कंपनियां करीब बीस हजार करोड़ रुपये का निवेश करेंगी। पिछले दिनों प्रशासन की टीम ने लखनऊ एक्सप्रेस वे और इनर रिंग रोड के आसपास जमीन देखी थी। इसके अलावा फतेहाबाद रोड पर भी जमीन देखी गई लेकिन यह जमीन पसंद नहीं आई।

Related Articles

Back to top button
Close