आगरा

जिलाधिकारी की अध्यक्षता में किसानों की बैठक संपन्न

किसानों की समस्या निस्तारण का दिलाया भरोषा, दिये निर्देश

liladhar pradhan 1000

 

आगरा : जिलाधिकारी प्रभु एन सिंह द्वारा आवास पर किसान नेताओं के साथ एक बैठक आहुत की गई इस दौरान मुख्य विकास अधिकारी जे. रीवा, रामप्रवेश वर्मा, जिला उद्यान अधिकारी कौशल कुमार नीरज, जिला पशुपालन अधिकारी बी.एस तोमर, हरीश बंसल नहर विभाग अधिशासी अभियंता मौके पर थी। किसानों की तरफ से किसान नेता श्याम सिंह चाहर, किसान नेता सोमवीर यादव चौधरी, रामवीर सिंह, देव प्रकाश, मोहन सिंह चाहर, मुकेश पाठक, वेद प्रकाश, सौरभ चौधरी, प्रदीप कुमार, रामगोपाल शर्मा, आदि ने बैठक में भाग लिया। किसान नेता रामवीर सिंह चौधरी ने कहा है कि नहर विभाग द्वारा 10 दिन में नहरों की पूरी सफाई दिखा दी जाती है। इसमें भारी मानकों का दुरुपयोग किया जाता है ठेकेदारों को जो टेंडर दिए जाएंगे उनके नाम और टेंडर संख्या किस नहर-माइनर रजवाह का ठेका दिया गया है। उनके नाम न्यूज़पेपर में प्रकाशित कराए जाएं और इसकी एक सक्षम टीम बनाकर टीम के अंतर्गत किसान प्रतिनिधियों को सदस्य बनाया जाए। और इसकी जांच कमेटी गठित करके जांच कराई जाए।

जिला अधिकारी के सामने बैठक में किसान नेता श्याम सिंह चाहर ने नहर विभाग पर नेहरों में पानी न होने से बाजरे की फसलें सूख रही है नहरों में पानी 5 अक्टूबर तक जारी रखा जाए। अधिशासी अभियंता ने कहा सभी नेहरों में पानी चल रहा है। तो इसी पर तड़का-भड़की हो गई तो जिलाधिकारी ने जांच कराने के लिए जिला कृषि अधिकारी और जिला उद्यान अधिकारी दोनों को 5 दिन में जांच कर रिपोर्ट देने के लिए कहा। टर्मिनल और एफ.एस ब्रांच की पानी पर पहुंचा या नहीं नहर विभाग पर एक और आरोप लगाया। कि नहर विभाग 15 अक्टूबर से 30 अक्टूबर तक नेहरों की सफाई व खुदाई कराई जाए। हकेवल नहर विभाग के अधिकारी कागजों में सफाई खुदाई करा देते हैं। मौके पर नहीं होती है किसान नेता ने जांच कमेटी गठित करने की मांग की तो जिला अधिकारी ने जांच कमेटी गठित करने का आस्वासन दिया है। उस कमेटी में किसान प्रतिनिधि भी होंगे। किसान नेता सोमबीर यादव ने बिजली विभाग की मांग उठाते हुए कहा कि देहात में किसानों को 10 घंटे सिंचाई के लिए बिजली दी जा रही है। मौके पर बिजली विभाग के अधीक्षण अभियंता हरीश बंसल मौजूद थे। तो जिलाधिकारी ने साफ शब्दों में बिजली विभाग के अधिकारी से कहा किसानों को सिंचाई हेतु 14 घंटे बिजली उपलब्ध कराई जाए नहीं तो आपके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। किसानों के कनेक्शन 10एच् पी (अश्वशक्ति) के हैं। और टोरेंट अपनी मनमानी से किसानों से 15-18 एच् पी (अश्वशक्ति) के दाम वसूल रही है। किसान किसी भी कीमत पर 10 एचपी के अलावा कोई बिल अदा नहीं करेगा।

जिलाधिकारी ने आश्वासन दिया। अगर कहीं टोरंटो कंपनी द्वारा अवैध वसूली की जाती है तो इसकी शिकायत सीधे जिलाधिकारी से करें। प्रदीप शर्मा ने बैठक में खाद डीएपी यूरिया पोटाश देहात में उपलब्ध ना होने पर किसान त्राह-त्राह कर रहा है। कृषि अधिकारी कमीशन के खेल में लगे हुए हैं जिलाधिकारी ने आश्वासन देते हुए कहा कि कहीं पर देहात में खाद, यूरिया, डीएपी की कमी नहीं होने दी जाएगी। अगर कहीं पर कोई दिक्कत आती है तो सीधा जिला कृषि अधिकारी रामप्रवेश वर्मा को बताएं। अन्यथा यह कार्रवाई नहीं करते तो इनके खिलाफ कार्रवाई कर दी जाएगी। किसी को किसानों के साथ अन्याय करने पर बख्शा नहीं जाएगा।

Related Articles

Back to top button
Close