आगरा

लव जिहाद के खिलाफ हिंदूवादियों की महापंचायत,जुटी हजारों की भीड़

पुलिस की कार्रवाई से असंतुष्ट परिजनों, लगाया लापरवाही का आरोप

liladhar pradhan 1000

 

आगरा-जनपद के थाना इरादतनगर क्षेत्र में मंगलवार सुबह से तनाव की स्थिति बनी हुई है। दूसरे समुदाय का युवक कुछ दिन पहले एक किशोरी को बहला-फुसलाकर ले गया था। पहले क्षेत्रीय पुलिस मामले को टालती रही। अब हिंदूवादी संगठन इस मामले में हैं। मंगलवार को महापंचायत का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया जिसके बाद गांव में लोगों की भीड़ पहुंचने लगी। हालांकि पीएसी और पुलिसबल गांव में तैनात है। गांव में तनाव की स्थिति बनी हुई है। मंगलवार को महापंचायत के लिए निर्धारित स्थान डॉ0 करण सिंह त्यागी इंटर कॉलेज रहलई को पुलिस अधिकारियों ने बंद करा दिया। महापंचायत के लिए पहुंचे हिंदूवादी संगठन, बालिका के समाज के लोग व अन्य ग्रामीण रहलई के पास कोल्ड स्टोर पर जमा हो गए। जमा हुई भीड़ नारेबाजी करती हुई थाना इरादत नगर की ओर चली गई। पुलिस बल ने भीड़ को रोकने का प्रयास किया लेकिन भीड़ नहीं रुकी। लोग धार्मिक नारे लगाते हुए थाना का घेराव करने पहुंचे। क्षेत्र में भारी पुलिस बल तैनात है।

इरादतनगर कस्बा निवासी नाबालिग क%E संप्रदाय विशेष के युवक द्वारा शुक्रवार को अपहरण किए जाने के मामले में पुलिस की कार्रवाई से बालिका के परिजन निराश हैं। पुलिस की लापरवाही के चलते चार दिन बीतने पर भी बालिका का कोई पता न चलने पर परिजनों व ग्रामीणों में आक्रोश है। बालिका के पिता का कहना है कि पुलिस सिर्फ आश्वासन के अलावा कुछ भी नहीं कर रही है। बालिका से संबंधित समाज के लोगों का खुला आरोप है कि पुलिस की आरोपियों के साथ साठगांठ है दो दिन से हो रहे बवाल की सूचना प्रदेश मुख्यालय तक पहुंच चुकी है। इस संबंध में प्रदेश मुख्यालय से एक अधिकारी ने बालिका के पिता से बातचीत की और पुलिस द्वारा की जा रही कार्रवाई के बाबत पूछा। इस पर बालिका के पिता ने पुलिस पर लापरवाही बरतने का आरोप लगाते हुए कहा की वह व समाज के लोग अब बालिका की बरामदगी को और अधिक समय देने के लिए तैयार नहीं है। उनका धैर्य खत्म हो चुका है। अगर शीघ्र ही बालिका बरामद नहीं होती है। तो वह कुछ भी कर गुजरने के लिए मजबूर होंगे जिसका पूरा उत्तरदायित्व शासन-प्रशासन का होगा।

बालिका के पिता ने कहा कि इस संबंध में होने वाली घटना प्रदेश ही नहीं देश में भी चर्चा का विषय बन सकती है। परिजन मानसिक रूप से काफी परेशान है जबकि पुलिस के पास आश्वासन के अलावा कुछ भी नहीं है। ब्रज प्रांत संपर्क प्रमुख आशीष आर्य व अन्य हिंदूवादी नेताओं ने इरादत नगर क्षेत्र में आए दिन हो रही अपराधिक घटनाओं के लिए इलाका पुलिस को जिम्मेदार ठहराते हुए प्रभारी निरीक्षक को निलंबित किए जाने की मांग की है। किशोरी के अपहरण के मामले आरोपित परिवार से संबंध रखने वाले पुलिसकर्मियों की भी जांच करा कर कार्रवाई किए जाने की मांग की गई है।

Related Articles

Back to top button
Close