मथुरा

कोसी मीडिया संघ ने हिंदी दिवस पर गुरुजनों का किया सम्मान

liladhar pradhan 1000

मिशन इंडिया न्यूज़ संवाददाता-पवन शर्मा  

कोसीकलां:  हिंदी दिवस पर कोसी मीडिया संघ ने सोमवार को एक संगेाष्ठी का आयोजन कर गुरुजनों का सम्मान किया। इस संगोष्ठी का विषय था- ‘लोकतंत्र का चौथा स्तंभ और हिंदी मातृभाषा। कार्यक्रम का आयोजन थाना रोड स्थित कोसी मीडिया संघ के कार्यालय पर हुआ।
संगोष्ठी के विशिष्ट अतिथि इंदिरा गांधी राष्ट्रीय सेवा योजना पुरुस्कार से सम्मानित डा. एल पी शर्मा प्रवक्ता ब्रज बिहारी डिग्री काॅलेज रहे, जबकि कार्यक्रम की अध्यक्षता वरिष्ठ पत्रकार बी. एस. शर्मा ‘उपन’ ने की। पत्रकारों के अलावा संगोष्ठी में शामिल कई शिक्षाविदों और समाजसेवियों ने भी अपने-अपने विचार रखे। साथ ही इस अवसर पर डा. एल. पी. शर्मा, शशिकांत अग्रवाल हिन्दी प्रवक्ता, वरिष्ठ पत्रकार बी. एस. शर्मा ‘उपन’ को शाॅल व सम्मान प्रतीक देकर सम्मानित किया गया।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए डा. एल पी शर्मा ने कहा कि आज के दौर में लोगों ने हिंदी बोलना और पढ़ना छोड़ दिया है। हिंदी के पिछड़ने की असली वजह यह है कि हायर एजूकेशन हिंदी माध्यम से नहीं है। कोर्ट के आदेश भी अंग्रेजी में आते ह%0ं। इससे पता ही नहीं चलता कि आरोप या बचाव की दलील क्या दी गई। क्योंकि हर कोई अंग्रेजी नहीं जानता। कॉम्पटीशन भी अंग्रेजी में होते हैं। उन्होंने कहा कि आज हिंदी सिर्फ अनुवाद की भाषा बनकर रह गई है। जिन शब्दों का चलन नहीं है वह भी इस्तेमाल किए जा रहे हैं। अंग्रेजी के वचस्व में हिंदी पिछड़ गई है। इसलिए जबतक उच्च शिक्षा हिंदी में नहीं मिलेगी तबतक हिंदी का उत्थान नहीं हो सकता।

शशिकांत अग्रवाल ने कहा कि 14 सितम्बर 1949 को संविधान सभा ने एक मत से यह निर्णय लिया कि हिन्दी ही भारत की राजभाषा होगी। इसी महत्वपूर्ण निर्णय के महत्व को प्रतिपादित करने तथा हिन्दी को हर क्षेत्र में प्रसारित करने के लिये राष्ट्रभाषा प्रचार समिति, वर्धा के अनुरोध पर वर्ष 1953 से पूरे भारत में 14 सितम्बर को प्रतिवर्ष हिन्दी-दिवस के रूप में मनाया जाता है। एक तथ्य यह भी है कि 14 सितम्बर 1949 को हिन्दी के पुरोधा व्यौहार राजेन्द्र सिंह का 50-वां जन्मदिन था, जिन्होंने हिन्दी को राष्ट्रभाषा बनाने के लिए बहुत लंबा संघर्ष किया। स्वतंत्रता प्राप्ति के बाद हिन्दी को राष्ट्रभाषा के रूप में स्थापित करवाने के लिए काका कालेलकर, मैथिलीशरण गुप्त, हजारीप्रसाद द्विवेदी, सेठ गोविन्ददास आदि साहित्यकारों को साथ लेकर व्यौहार राजेन्द्र सिंह ने अथक प्रयास किए।

गोष्ठी में कोसी मीडिया संघ के अध्यक्ष करन कुमार एडवोकेट, सत्यवीर सांगवान, सोनू गोयल, नाजिम कुरैशी, लोकेश गर्ग, हसीन रौनक, चंचल दीघोटिया, गोपाल सोनी, कन्हीराम, रिहान अहमद, हर्ष वर्धन कौशिक आदि पत्रकार मौजूद रहे।

Related Articles

Back to top button
Close