आगरा

फसल नुकसान से परेशान किसानों ने प्रशासन से लगाई मुआबजे की गुहार

liladhar pradhan 1000

 

आगरा-बाजरा की फसल में कीड़ा लगने किसान की फसल बर्बाद हो गयी हैं। किसानो ने फसल के नुकसान को लेकर जिला प्रशासन से मुआवजे की माँग की हैं। इस मांग को लेकर आज किसान संगठन व किसानों ने जिलाधिकारी के नाम ज्ञापन एसीएम प्रथम महोदय को सौंपा इस दौरान किसानों की मांग कि फसल ज्वार व बाजरे का सर्वे कराकर 50 प्रतिशत प्रति एकड़ का भुगतान किसानों को दिया जाए। साथ ही कृषि विभाग द्वारा किसानों को निशुल्क अमीवर्म कीट (गिडार) मारने की दवाई दिलवाई जाए। जिससे किसानों की ज्वार व बाजरे की कुछ फसल तो बच जाए। अतः सरकार किसानों को 50 हजार रुपया प्रति एकड़ की दर से मुआवजे का भुगतान करे। इस दौरान हरियाणा के पिपली में किसानों के ऊपर हुए लाठीचार्ज की किसान नेताओं ने घोर निंदा करते हुए हरियाणा सरकार को बर्खास्त कर राष्ट्रपति शासन लगायें जाने की मांग की है। किसानों के ऊपर पिपली में हुए लाठीचार्ज के खिलाफ किसानों ने राष्ट्रपति को नाम से दिया ज्ञापन में तीनों अध्यादेश को वापस लेने की मांग दोहराई तथा दोषी अधिकारियों को बर्खास्त कर राष्ट्रपति शासन लगाया जाए इस मांग को आगरा के किसान नेताओं %8े ज्ञापन के माध्यम से उठाई।

एसीएम प्रथम ने किसान नेताओं को आश्वासन दिया है कि सभी किसानों के खेतों की टीम बनाकर जांच कराई जाएगी। किसानों की मांग को जिलाधिकारी के सामने रखकर किसानों को जितना संभव हो सकेगा उतना मुआवजा दिलवाने का प्रयास करेंगे। और शासन कों भी दिखा दिया जाएगा कि किसानो के साथ अन्याय नहीं होने दिया जाएगा। किसान नेता सोमवीर यादव और श्याम सिंह चाहर ने विगत दिनों हरियाणा में किसानों पर हुए लाठीचार्ज का विरोध करते हुए कहा है कि किसानों के साथ किसी भी तरह का अमानवीय व्यवहार बर्दाश्त नही किया जाएगा और हरियाणा में राष्ट्रपति शासन लागू करने की मांग की और अमीवर्म नाम के कीट से जो किसानों की फसल बर्बाद हुई है सरकार उसका मुआवजा दे । अगर इस समस्या का समाधान नही होता है तो किसान सड़कों पर उठकर आंदोलन करने के लिए मजबूर होंगे। मौके पर किसान नेता श्याम सिंह चाहर किसान नेता सोमबीर यादव, देव प्रकाश, मेहताब सिंह, अशोक लवानिया, राकेश सोलंकी, मेहताब सिंह सोलंकी, प्रदीप कुमार, शिवप्रसाद विनोद कुमार, ओम प्रकाश शर्मा, सतपाल सिंह जादौन सहित सैकड़ों किसानों मौजूद रहे।

Related Articles

Back to top button
Close