मथुरा

आयुर्वेद चिकित्सक भी पोषण माह में बच्चों के कुपोषण दूर करने में जुटे

बैंक कॉलोनी, पूजा एंक्लेव समेत कई स्थानों पर लगे हैल्थ कैंप

liladhar pradhan 1000

मिशन इंडिया न्यूज संवाददाता-तोरन सिंह

मथुरा : आयुष मंत्रालय के तहत आयुर्वेद चिकित्सा विभाग की ओर से भी पोषण माह का आयोजन किया जा रहा है। इस माह में कुपोषित बच्चों, कुपोषित किशोर व किशोरियों को आयुर्वेद की वे दवाएं दी जा रही हैं जिनसे कुपोषण दूर होता है और बच्चे का वजन बढ़ता है। साथ ही चेकअप किया जा रहा है। आयुर्वेद की दवा की सलाह भी दी जा रही है।  यह जानकारी जिला आयुर्वेद अधिकारी डॉ नरेंद्र सिंह ने दी। उन्होंने बताया कि पोषण माह के अंतर्गत 8 से 30 सितंबर तक प्रतिदिन आयुर्वेद चिकित्सा कैंप लगाए जा रहे हैं। अभी तक बैंक कॉलोनी, पूजा एंक्लेव समेत कई कालोनियों में कैंप लगाए जा चुके हैं। जो बच्चे कुपोषित मिल रहे हैं, वहां आयुर्वेद चिकित्सकों की टीम पहुंच रही है। कुपोषण के शिकार बच्चों के परिवार वालों से मिलकर उन्हें दवा वितरित की जा रही है।

आयुर्वेद की दवा में सामान्य ऐसी जड़ी बूटी हैं जिनसे कुपोषण दूर होना निश्चित होता है। लोगों का भी विश्वास आयुर्वेद दवा में बढ रहा है।
जिला आयुर्वेद अधिकारीडॉ नरेंद्र सिंह ने बताया कि मार्च महीने से ही कोरोना से बचाव के लिए काढ़ा एवं आयुर्वेदिक दवाएं अलग से दी जा रही हैं। पोषण माह के तहत कुपोषित बच्चों को भी अलग से दवाएं दी जा रही हैं। यह कार्य कैंप लगाकर किया जा रहा है। इसकी रिपोर्ट आयुष मंत्रालय को भेजी जा रही है  जिला आयुर्वेद चिकित्सालय की ओर से लगाए जा रहे इन कैंपों में डॉ. नेहा, डॉ अर्चना, प्रदीप गोस्वामी, पंकज वर्मा, मान सिंह आदि चिकित्सक एवं चिकित्सा कर्मी भाग ले रहे हैं.

Related Articles

Back to top button
Close