आगरा

द बैकबोन ऑर्गनाइजेशन का स्वास्थ्य से जुड़ा दो दिवसीय कार्यक्रम संपन्न

liladhar pradhan 1000

 

आगरा-द बैकबोन ऑर्गनाइजेशन द्वारा स्वास्थ्य से जुड़े दो दिवसीय कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस “न्यूट्री-टॉक“ में आगरा शहर की जानी मानी न्यूट्रिशनिस्ट डॉ0 रेणुका डांग और न्यूरोसाइंटिस्ट डॉ0 अरुण पी सिकरवार मुख्यातिथि रहे। कार्यक्रम का संचालन अनुष्का श्रीवास्तव और मानवी जैन ने किया। वहीं संस्था के कोषाध्यक्ष सक्षम राज गुप्ता भी मौजूद रहे। इन लोगो के आलावा 80 से ज़्यादा लोग वेबीनार में शामिल हुए और खान पान से जुड़े तमाम सवाल भी पूछे। कीटो डायट से जुड़े सवाल करने पर डॉ0 रेणुका डांग ने कहा कि मैं कभी भी कीटो डायट लेने की सलाह नहीं दूंगी। कीटो डायट हो सकता है आपको शुरुआत में लाभ दे लेकिन आगे जाकर किडनी से जुड़ी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। उन्होंने आगे यह भी बताया कि किस तरह गरीब आदमी कम खाने में भी स्वस्थ रहता है तो वहीं अमीर आदमी अक्सर बीमार हो जाता है। इसका कारण है गरीब आदमी मिर्ची से ही रोटी खा लेता है जिससे पर्याप्त मात्रा में विटामिन सी प्राप्त कर लेता है और पूरा साल गुड़ खाता है जिससे उसको कई तरह के पोषक तत्व मिल जाते हैं।

दूसरी तरफ डॉ0 अरुण प%E सिकरवार ने बताया कि हर आदमी को अपने इलाके में मिलने वाले फल और सब्जियों पर ही निर्भर रहना चाहिए। हर खाने कि चीज़ वहां के मौसम के अनुसार पैदा होती है, प्रकृति ने हमको उसी तरह तैयार किया है। प्रकृति के साथ छेड़छाड़ ठीक नहीं है।आगे डॉक्टर रेणुका ने कहा कि मोटापा अमीरों की बीमारी है इसलिए अगर स्वस्थ रहना है तो अपने जीवनशैली में बदलाव लाएं। द बैकबोन ऑर्गनाइजेशन की कंटेंट क्रिएटिव हेड मानवी जैन का कहना है कि यह कार्यक्रम हेल्थ कैंपेन के तहत चलाया गया और इसमें हमारी संस्था कामयाब रही। तो वहीं कार्यक्रम की संचालिका अनुष्का श्रीवास्तव का कहना था कि नई पीढ़ी को पोषण के बारे में जानने समझने की ज़रूरत है, जिससे हम बीमारियों का इलाज घर पर ही कर सके और विदेशी सप्लीमेंट्स को छोड़ दें। कार्यक्रम में आभिनाश भट्ट, अनुष्का कौशिक, डॉली जादौन, दीक्षा चक्रवर्ती, ब्रह्म दत्त, गुलरुख, संजना, कार्तिक आदि शामिल रहे।

Related Articles

Back to top button
Close