आगरा

धौर्रा कांडः मासूम बालक की हत्या का पुलिस ने किया अनावरण

शोर मचाने पर कर दी मासूम की हत्या, मुठभेड़ में आरोपी गिरफ्तार

liladhar pradhan 1000

 

आगरा-कस्बा एत्मादपुर के गांव धौर्रा में नौ वर्षीय बालक उपदेश को पड़ोसी वाहिद ने अगवा किया था। वह परिवार से फिरौती वसूलना चाहता था। मगर, बालक के शोर मचाने पर हत्या कर दी। पुलिस ने शनिवार की सुबह गांव के पास मुठभेड़ में उसको गिरफ्तार कर लिया। उसको गोली लगी है। उसका साथी अरमान फरार हो गया। पुलिस उसकी भी तलाश में जुटी है। धौर्रा निवासी किसान रघुनाथ सिंह यादव का बेटा उपदेश उर्फ भुल्ला मंगलवार को लापता हो गया था। गुरुवार की सुबह उसका शव घर के पास ही बाड़े में भूसे के ढेर में मिला था। ग्रामीणों में थाना प्रभारी निरीक्षक सलीम खान की लापरवाही को लेकर आक्रोश था।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक बबलू कुमार ने प्रभारी निरीक्षक को लाइन हाजिर कर दिया था। उपदेश के परिजन वाहिद और अयूब पर हत्या का शक जता रहे थे। पूछताछ में उन्होंने घटना नहीं कबूली। मगर, शक वाहिद पर पुलिस को भी था। घटना के समय उसकी मौजूदगी की जानकारी मिली। पुलिस ने शनिवार सुबह छह बजे वाहिद को मुठभेड़ में गिरफ्तार कर लिया। वह घायल ह%B गया। उसका साथी अरमान भाग गया। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक बबलू कुमार ने बताया कि वाहिद ने पूछताछ के दौरान अपना जुर्म कुबूल कर लिया है। उसका कहना था कि रुपयों की जरूरत थी। इस बजह से बालक के अपहरण की योजना बनाई। इस हत्याकांड में वाहिद के साथ अरमान और अन्य भी शामिल थे।

मंगलवार को चॉकलेट देने के बहाने बालक को उठाया। बाड़े में ले जाकर बेहोश करने की कोशिश की। मगर, बालक शोर मचाने लगा। इस पर जूते के फीते से बालक का गला घोंट दिया। शव भूसे में छिपा दिया। बालक की हत्या के बाद से ही गांव में तनाव हो गया था इसलिये पुलिस फोर्स तैनात थी। शनिवार सुबह आरोपी के पकड़े जाने के बाद तनाव और बढ़ गया। अब पुलिस और पीएसी की संख्या बढ़ा दी है।

Related Articles

Back to top button
Close