मैनपुरी

जनता का प्यार मिला तो अपराधी व भ्रष्टाचारी होगें जीरो- अजय कुमार

SP ने जनहित में जारी किया अपना निजी मोबाइल नंबर-8941001786

liladhar pradhan 1000

 

मैनपुरी-जिले में तैनात पुलिस अधीक्षक अजय कुमार द्वारा ‘अपराध व अपराधी तथा भ्रष्टाचार व भ्रष्टाचारी पर ज़ीरो टोलरैंस की नीति‘ पर किये जा रहे कार्यो से जिले का हर नागरिक उनकी सराहना करते नजर आ रहा हैं। ऐसे में उनके द्वारा दिये गये संदेश ने जनता के मन में खास जगह बनाने का काम किया हैं। उन्होने संदेश के माध्यम से जिले के नागरिकों को धन्यबाद देते हुये कहा कि जनपद मैनपुरी में पिछले क़रीब 10 माह से मैं कार्य कर रहा हॅू। आप लोगों द्वारा जो भी सूचनाएँ, भरपूर सहयोग व ढेर सारा आशीर्वाद मुझे प्राप्त हुआ है। जिसके कारण मैं अपने स्वयं के सिद्धांत और वर्तमान सरकार के दृढ़ संकल्प ‘अपराध व अपराधी तथा भ्रष्टाचार व भ्रष्टाचारी पर ज़ीरो टोलरैंस की नीति‘ पर कार्य करने में सक्षम रहा हूँ। साथ ही कहा कि अपराधियों व भ्रष्टाचारियों के प्रति मेरी सख़््ती की वजह से निश्चित रूप से उसी प्रवृति के लोगों को को मेरा ‘सपोर्ट’ ना मिलने से अधिक पीड़ा हो रही हैं। जो कि उनके लिए स्वाभाविक भी है। ऐसे में ग़लत कार्य करने वालों पर सख8Dती के साथ क़ानूनी कार्यवाही करना ही तो पुलिस का असली काम है। साथ ही कहा कि मैं अपराध करने वालें अपराधियों के लिये कभी सही नही हो सकता मेरे लिये अपराध करने वाला अपराधी समाज का दुश्मन हैं मैं ऐसे दुश्मन पर कड़ी नजर रखता हूॅ और रखता रहॅूगा। जिसे बदलना मैं हरगिज़ न चाहूँगा।

पुलिस विभाग के भ्रष्टाचार पर बोले एसपी अजय कुमार

पुलिस विभाग में हो रहे भ्रष्टाचार को लेकर जब सवाल किया तो बडी ही शालीनता से जबाब दिया कि सभी जिले के पुलिस कर्मियों व आलाधिकारियों को पूर्व में सख्त से सख्त लहज़े में कई बार लिखित व मौखिक तरीक़ों से ब्रीफ़ किया गया है, और कई बार स्पष्ट संदेश भी जारी किए गए हैं कि किसी भी पुलिस कर्मचारी या अधिकारी द्वारा किया गया भ्रष्टाचार किसी भी सूरत में सहन नहीं किया जाएगा। इन तमाम चेतावनियों के बाद भी, यदि पुलिस का कोई भी कर्मचारी या अधिकारी भ्रष्टाचार में लिप्त पाया जाता है तो उसके बारे में गहनता से जाँच कर ठोस सबूतों के आधार पर उसके खि़लाफ़ अपराधियों की तरह ही कड़ी से कड़ी कार्यवाही की जाएगी। और हाँ, यदि भ्रष्टाचार के दौरान धन के लेन देन का कोई वीडियो संज्ञान में आता है और पहली नज़र में आरोप सही लगते हैं तो संबंधित भ्रष्ट पुलिस कर्मचारी या अधिकारी के खि़लाफ़ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत तत्काल मुक़द्दमा दर्ज कर उसे जेल भेजने की कार्यवाही भी अमल में लाई जाएगी।

SP ने जनहित में जारी किया अपना निजी मोबाइल नंबर

इसी के साथ पुलिस अधीक्षक अजय कुमार ने जन हित में अपना निजी मोबाइल नंबर जारी किया। साथ ही नागरिको से अनुरोध किया कि पुलिस विभाग द्वारा किए गए भ्रष्टाचार या दुर्व्यवहार से संबंधित ऑडियो, वीडियो या लिखित शिकायत कृपया मेरे निजी मोबाइल नम्बर 8941001786 पर या वैकल्पिक मोबाइल नम्बर 7839865855 पर भेज सकते हैं। लिखित शिकायत पर 72 घण्टे के भीतर व विश्वसनीय वीडियो मिलने पर महज़ 48 घण्टे के भीतर भ्रष्टाचारी पर कार्यवाही सुनिश्चित कर दी जाएगी। मेरा कार्य नागरिको को इंसाफ दिलाना हैं जिसके लिये मैं किसी भी हद तक जाने को तैयार हूॅ।

Back to top button
Close