मैनपुरी

एसपी के आदेश के बाद पुलिस हुई सक्रिय, कसा तस्करों के खिलाफ शिकंजा

जिले में ज़हरीली शराब बनाने बाले सौदागरों पर जल्द होगी बड़ी कार्यवाही

liladhar pradhan 1000

 

मैनपुरी/भोगांव-जिले शराब माफियाओं पर शिंकजा कसने के लिये पुलिस अधीक्षक अजय कुमार द्वारा भरकस प्रयास किया जा रहा हैं। अजय कुमार के अनुसार विगत बर्ष पूर्व अक्टूबर माह में भोगांव क्षेत्र के भैंसरोली गांव स्थित मुर्गी फार्म पर दबिश दी गई थी। लेकिन मुख्य आरोपी/शराब तस्कर कुॅवरपाल और उसका दोस्त महेंद्र सिंह उर्फ़ पंचू लोधी फरार हो गये थे। इस मामले में शराब माफिया कुँवरपाल शाक्य व महेन्द्र सिंह उर्फ पंचू लोधी पर 20-20 हज़ार का ईनाम घोषित किया था।

इस मामले में पुलिस अधीक्षक अजय कुमार ने बताया कि अपराधी कुँवरपाल और उसका दोस्त महेन्द्र सिंह लोधी अपने तमाम गुर्गों के साथ मिलकर ग़ैर प्रदेशों से तस्करी कर लाई गई शराब को अपमिश्रित/ ज़हरीली बना कर रिबॉट्लिंग व पैकिंग करके बेचने का कार्य करते थे। पूर्व में जहरीली शराब बनाने के आरोप में तकरीबन 10 से अधिक अपराधियों को जेल भेजा जा चुका हैं। लेकिन मुख्य आरोपी/सरगना कुंवरपाल शाक्य और पंचू लोधी काफ़ी दिनों से पुलिस के साथ लुका छिपी का खेल खेल रहे थे। पुलिस ने सा%4े सबूतों के साथ केसडायरी पर लेकर माननीय न्यायालय से गिरफ़्तारी का वारंट जारी करवाया था।

इसके बाद भी पिछले काफ़ी दिनों से पुलिस द्वारा अभियुक्तो की गिरफ़्तारी नही होने पर पुलिस अधीक्षक द्वारा इन अभियुक्तों पर ईनाम घोषित किया गया था। साथ ही बताया कि जिस ट्रक से ग़ैर प्रदेशों की शराब लाकर ये खेल खेला जा रहा था, उसके मालिक जवाहर को भी पुलिस ने अपराधी घोषित कर उस पर भी 20,000 का ईनाम घोषित कर दिया। साथ ही कहा कि ऐसे में अपराधियों के साथ पुलिस मुठभेड़ होती हैं इस दौरान अपराधी मारे जाते हैं तो ईनाम की राशि विधिवत जाँच करने के बाद ही इसके सही हक़दारों को प्रदान की जाएगी।

Back to top button
Close