मथुरा

संस्कृति विवि ने समय से कराईं आनलाइन परीक्षाएं

liladhar pradhan 1000

मिशन इंडिया न्यूज़ संवाददाता-पवन शर्मा

मथुरा : कोविड-19 के पड़ने वाले व्यापक प्रभाव को संस्कृति विश्वविद्यालय प्रशासन ने पूर्व में ही अनुमान कर अपने यहां कक्षाओं, सेमिनार और प्रवेश की सुदृढ़ कर ली थी। पूर्व सजगता के चलते ही विश्वविद्यालय देश की उन चंद यूनिवर्सिटी में शामिल हो सका जिसने अपने यहां सभी परीक्षाएं 97 प्रतिशत विद्यार्थियों की उपस्थिति के साथ संपन्न कराईं। समय से परीक्षाएं हो जाने से परीक्षार्थियों के शिक्षण सत्र में इतने विपरीत हालातों के चलते भी कोई विशेष असर नहीं पड़ा है। वे अपनी अगली कक्षाओं में प्रवेश ले रहे हैं और उनके पाठ्यक्रमों में आनलाइन पढ़ाई भी शुरू हो गई है।

विश्वविद्यालय के परीक्षा विभाग के अधिकारियों ने बताया कि विश्वविद्यालय के कुलाधिपति सचिन गुप्ता के निर्देश पर कुलपति, डीन और फैकल्टी ने एक टीम के रूप में जुटकर कोरोना काल में तत्परता से आनलाइन पाठ्यक्रम पूरे कराए। इसका लाभ यह हुआ कि विश्वविद्यालय समय से परीक्षाएं कराने में भी समर्थ हो सका। पाठ्यक्रम पूरा होने के बाद परीक्षा विभाग ने सभी विभागाध्यक्षों के साथ मिलकर परीक्षा कार्यक्रम तैयार किया और को विद्यार्थियों को सूचना देकर आनलाइन परीक्षाओं की सुदृढ़ व्यवस्था की। जुलाई 2020 में क्रमवार सभी पाठ्यक्रमों की आनलाइन परीक्षाएं हुईं और जुलाई माह में ही विभिन्न पाठ्यक्रमों की लगभग 745 परीक्षाएं आनलाइन संपन्न करा ली गईं। संतोषजनक स्थिति यह थी कि इन परीक्षाओं में लगभग 97 प्रतिशत परीक्षार्थियों ने उपस्थिति दर्ज कराई। जिन विद्यार्थियों की परीक्षाएं किन्ही कारणवश छूट गईं उनको भी दोबारा आनलाइन परीक्षा कराने का अवसर दिया जा रहा है।

संस्कृति विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार पूरन सिंह ने बताया कि कोरोना महामारी ने शिक्षण कार्य के लिए एक बड़ा खतरा खड़ा कर दिया था और वर्तमान में भी है। ऐसी स्थिति को भांप लेना ही विश्वविद्यालय के लिए सफलता का कारण बना है। प्रारंभ में ही हमारे वीसी, डीन और फैकल्टी ने युद्ध स्तर पर जूम और अन्य दूसरे एप के माध्यम से कक्षाएं शुरू कराकर पाठ्यक्रम पूरे कराए। पाठ्यक्रम पूरे हो जाने पर चुनौती थी परीक्षाएं कराने की। ऐसी स्थिति में आनलाइन परीक्षाओं कराने की तैयारियों में परीक्षा विभाग जुट गया और परिणामस्वरूप समय से सभी परीक्षाएं हो गईं। इतना ही नहीं मूल्यांकन कार्य भी द्रुत गति से हुआ और हम परीक्षा परिणाम समय के अंदर ही दे पाए। आज हमारे यहां पांच अगस्त से आधुनिकतम प्लेटफार्म पर पांच अगस्त से कक्षाएं शुरू हो चुकी हैं। विद्यार्थियों की प्रवेश प्रक्रिया भी आनलाइन जारी है।

Related Articles

Back to top button
Close