उत्तर प्रदेशमथुरा

समाजसेविका श्रीमती विमला देवी का स्वर्गवास, शोक की लहर

शिक्षण संस्थाओं के उत्थान में विमला के परिवार का रहा है अहम योगदान

liladhar pradhan 1000

मिशन इंडिया न्यूज़ संवाददाता-चंद्र प्रताप सिंह सिकरवार

मथुरा।नगर के प्रमुख समाजसेवी एवं उद्योगपति गोपाल प्रसाद प्रेस वालों की धर्मपत्नी श्रीमती विमला देवी का 07 सितम्बर को निधन हो गया। उन्होंने अपने पीछे भरा पूरा परिवार छोड़ा है। उनके निधन से नगर में शोक व्याप्त है। दिवंगत विमला देवी के परिवार का मथुरा के बीएसए कालेज समेत आधा दर्जन से ज्यादा नगर की प्रमुख शिक्षण संस्थाओं के उत्थान और प्रगति में बहुत बड़ा योगदान रहा है। श्रीमती विमला देवी के पुण्य कर्मो का फल ही है कि उनके पांचों बेटे अशोक अग्रवाल, सुरेश अग्रवाल, उमेश अग्रवाल, राजेश अग्रवाल और राकेश अग्रवाल आज अपने-अपने कारोबार में फल-फूल रहे हैं।

अपनी मां के आशीर्वाद से ही उनके सभी बेटे समाज की दूसरी सेवाओं में भी अपना योगदान दे रहे हैं। राजेश अग्रवाल इस समय बीएसए कॉलेज की प्रबंध समिति के सचिव हैं। वह अपने कारोबार के अलावा इस कालेज की प्रगति में भी दिन-रात जुटे हुए हैं। विमला के एक बेटे उमेश अग्रवाल रामलीला सभा में निर्विवादित सभापति रह चुके हैं। स्वर्गीय श्रीमती विमला की पुत्र वधुएं जेसीज व महिलाओं की अन्य संस्थाओं से जुड़कर सेवा के कामों में हाथ बटांती रहती हैं। श्रीमती विमला के निधन की खबर पर पूर्व मंत्री रविकांत गर्ग, उद्योगपति विनोद कसेरे के अलावा श्री अग्रवाल सभा, अग्रवाल शिक्षा मंडल और श्री रामलीला सभा आदि के पदाधिकारी सभी ने शोक संतृप्त परिवार को धैर्य बंधाया है।

अपने चैरिटेबल ट्रस्ट से सेवा कर रहा है परिवार —वह ”श्रीमती विमला देवी-गोपाल प्रसाद प्रेस वाले चैरिटेबिल ट्रस्ट” की संस्थापक थीं। आप स्वयं अपने ट्रस्ट के माध्यम से विभिन्न सामाजिक कार्यों का संचालन करती थीं। विमला के पति श्री गोपाल प्रसाद अग्रवाल प्रेस वाले विभिन्न सामाजिक संस्थाओं जैसे अग्रवाल शिक्षा मंडल और अग्रवाल सभा के अध्यक्ष रहे हैं।

विमला देवी के पुण्य कर्मों से ही बेटे दे रहे हैं हजारों को रोजगार आपके पुत्र अशोक अग्रवाल, सुरेश अग्रवाल, उमेश अग्रवाल (पूर्व सभापति रामलीला सभा), राजेश अग्रवाल ( सचिव बी एस ए कॉलेज ) व राकेश अग्रवाल आपकी प्रेरणा से अपने विभिन्न उद्योगों के माध्यम से हजारों परिवारों को रोजगार उपलब्ध करा रहें हैं। विमला देवी ने अपने पीछे भरा-पूरा परिवार छोड़ा है।

विमला के निधन पर अनेक संस्थाओं में शोक की लहर—–आपके निधन पर विभिन्न सामाजिक संस्थाएं श्री अग्रवाल शिक्षा मंडल, अग्रवाल सभा, बीएसए कॉलेज, रोटरी क्लब, जेसीआई मथुरा, जेसीआई कालिन्दी, ब्रज जन सेवा संस्थान, श्री कृष्ण जन्म महोत्सव समिति, ब्रज महोत्सव समिति, स्टार क्लब, सरस्वती शिशु मंदिर, नेशनल चैम्बर आदि संस्थाओं के पदाधिकारियों ने शोक व्यक्त किया है।

माता-पिता के आशीर्वाद से बेटे कर रहे हैं तरक्की– मथुरा के वरिष्ठ पत्रकार और अमर उजाला के लंबे समय तक ब्यूरो चीफ रहे चंद्र प्रताप सिंह सिकरवार ने कहा है कि श्रीमती विमला देवी के ही पुण्य कर्मों का फल है कि आज ये परिवार अग्रवाल शिक्षा मंडल व अन्य संस्थाओं के माध्यम से न केवल समाज के लिए समर्पित भाव से काम कर रहा है बल्कि उद्योग जगत में भी अनेक परिवारों को रोजगार मुहैया करा रहा है। सेवा और रोजगार देने का मंत्र अपने बेटों को विमला देवी ही सिखाती रहीं। विमला के पति श्री गोपाल प्रसाद प्रेस वालों ने भी अपने बेटों को सदैव यही सिखाया कि वह समाज में अपने सेवा भाव को बरकरार रखें। साथ ही अपने उद्योग को भी बढ़ाते रहें। उनके पांचों बेटे माता-पिता की कसौटी पर आज खरे उतर रहे हैं।

विमला देवी की उठावनी 9 सितंबर को दोपहर– बुधवार 9 सितंबर को दोपहर स्वर्गीय विमला देवी की पारिवारिक उठावनी होगी। बेटों ने शुभचिंतकों और स्नेहीजनों से आग्रह किया है कि वे कोरोना के कारण अपने यहां से ही माता जी को अपनी श्रद्धांजलि अर्पित करें।

Related Articles

Back to top button
Close