आगरा

दरोगा बना गुंडा, दबिश के नाम पर की महिलाओं से अभद्रता, वीडियो वायरल

सीसीटीवी कैमरे में रिकार्ड हुआ पूरा मामला,एसएसपी ने दिये जांच के आदेश

liladhar pradhan 1000

 

आगरा-दबिश के नाम पर मंगलवार रात को दारोगा ने एक घर में घुसकर महिलाओं से अभद्रता और गालीगलौज की विरोध करने पर महिला के थप्पड़ दिया और बचाव में आई बेटी को बाल पकड़कर जमीन पर गिरा लिया। इसके बाद डंडे से पिटाई की। दारोगा की यह हरकत सामने वाले घर में लगे सीसीटीवी कैमरे में रिकार्ड हो गई। एसएसपी के आदेश पर मामले की जांच शुरू हो गई है। मामला छत्ता के जीवनी मंडी में नया घेर का है। यहां 24 अगस्त को दो पक्षों में मारपीट हुई थी। इस मामले में छत्ता थाने में जानलेवा हमला समेत अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज हुआ। आरोपित पक्ष घर से ताला लगाकर फरार हो गया। मुकदमे में नामजद आरोपित की तलाश के नाम पर जीवनी मंडी चौकी प्रभारी प्रभात सागर मंगलवार रात 12बजे दो सिपाहियों के साथ पड़ोसी सुरेश चंद्र के घर पहुंचे। रात को घर में सुरेश की बुजुर्ग मां प्रेमवती, पत्नी आशा, बेटी अनीता और पुत्रवधू सीमा सो रही थीं।

दारोगा ने गेट खटखटाया, लेकिन महिलाओं ने रात में गेट खोलने से इन्कार कर दिया। अनीता ने बताया कि इस पर दारोगा व अन्य पुलिसकर्मी गेट से कूदकर उनके घर में घुस आए। विरोध करने पर दारोगा ने सारी हदें पार कर दीं। 80 वर्षीय प्रेमवती को धक्का मारकर गिरा दिया। इसके बाद विरोध में आईं आशा को थप्पड़ मार दिया। बेटी अनीता ने विरोध किया तो उसको बाल पकड़कर दारोगा गेट के बाहर तक ले गया। जमीन पर गिराकर उसको डंडे से पीटा। युवती के पैर और बैक में डंडे की चोट साफ दिख रही हैं। बुधवार दोपहर मां के साथ युवती एसएसपी ऑफिस पहुंची। वहां एसएसपी से मुलाकात नहीं हो सकी। उन्होंने एसएसपी ऑफिस में लिखित शिकायत की। सीसीटीवी कैमरे की रिकार्डिंग भी साथ ले गई थीं। मामला एसएसपी बबलू कुमार के भी संज्ञान में आया। उन्होंने सीओ छत्ता विकास जायसवाल को मामले की जांच दी है। एसएसपी बबलू कुमार का कहना है कि जांच में दोषी पाए जाने पर दारोगा के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी। यह कोई पहला मामला नहीं है। इससे पहले भी खाकी की खुले में गुंडई और दबंगई सामने आई है। इस मामले में भी दरोगा के कृत्य से आगरा पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवालिया निशान लगा है।

Related Articles

Back to top button
Close