आगरा

बस हाईजेक करने बालें दो अभियुक्तों ने अनोखे तरीके से किया सरेंडर

liladhar pradhan 1000

 

आगरा- विगत दिनों पूर्व थाना मलपुरा क्षेत्र में यात्रियों से भरी हुई स्लीपर बस को बदमाशों ने हाइजेक कर लिया था और उसे लेकर फरार हो गए थे। बस हाइजेक मामले में पुलिस ने 9 अभियुक्तों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है लेकिन इस मामले में पुलिस की कार्यवाही अभी थमी नहीं थी। पुलिस और बदमाशों के बीच आये दिन हो रही मुठभेड़ से घबराकर बस हाइजेक मामले में फरार चल रहे दो अभियुक्तों ने अनोखे तरीके से सरेंडर कर दिया। सोमवार सुबह बस हाइजेक मामले में फरार चल रहे सूरज और मनोज हाथों में एक पेम्पलेट लेकर पैदल चलते हुए मलपुरा थाने में सरेंडर करने के लिए पहुँचे जिसमे उन्होंने अपने आप को बेकसूर बताते हुए फंसाने आरोप लगाया है।

घटना 18 अगस्त देर रात की है। लगभग आधा दर्जन से अधिक बदमाशों ने फाइनेंस कर्मी बनकर दक्षिण बाईपास पर महुअर के पास स्लीपर बस को हाइजेक कर लिया था। इस मामले में पुलीस ने ताबड़तोड़ कार्यवाही कर बस हाइजेक के सरगना सहित 9 लोगों को गिरफ्तार कर लिया था और कानूनी कार्यवाही कर जेल भेज दिया था लेकिन इस घटना के दो अभियुक्त सूरज और मनोज फरार चल रहे थे। सोमवार को सूरज और मनोज सरेंडर करने के लिए मलपुरा थाने पहुँच गए। थाने में घुसने से पहले दोनों ने हाथों में एक पेम्पलेट पकड़ा और फिर उसे हाथों में लेकर थाने में गए। उनके हाथों में तख्तियां लगी जिन पर लिखा था हमें गिरफ्तार कर लो। दोनों ही आरोपित दिल्ली के रहने वाले हैं। पुलिस ने शुक्रवार सुबह नौवें आरोपित नन्दनगरी दिल्ली के हरिविंदर को दिल्ली से ही गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। लेकिन सोमवार को सुबह 11 बजे दिल्ली के नन्दनगरी निवासी मनोज बघेल और सूरज बघेल थाने पहुंच गए। वे हाथों में पोस्टर भी थामे थे। हाथों में लगे पोस्टर लेकर अंदर चलने लगे। उस पर खुद के सरेंडर करने सम्बन्धी लिखा था।

Related Articles

Back to top button
Close