राज्य

गृह मंत्रालय से मिली कंगना रनौत को वाई श्रेणी की सुरक्षा, बोली थैंक्यू

मैंने अपनी अभिव्यक्ति की आजादी का पालन किया तो मुझे गाली क्यों

liladhar pradhan 1000

 

मुंबई : अपने बयानों के कारण मशहूर बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत हमेशा ही सुर्खियों में रहती है। बता दें कि कुछ दिनों से एक्ट्रेस कंगना व शिवसेना नेता संजय राउत के बीच जुबानी जंग काफी तेज हो गई थी। यहां तक कि संजय राउत ने कंगना को मुंबई न आने की भी नसीहत दी थी। कंगना ने भी मुंबई आने का चैलेंज किया था। इसी बीच अब केंद्रीय गृह मंत्रालय ने कंगना रनौत को वाई श्रेणी की सुरक्षा देने का फैसला किया है। उनकी सुरक्षा में 11 जवान तैनात रहेंगे। इसमें एक या दो कमांडो और बाकी पुलिसकर्मी होंगे। इसका नोटिफिकेशन थोड़ी देर में जारी हो सकता है। बताया जा रहा है कि 9 सितंबर को जब कंगना मुंबई पहुंचेंगी, उन्हें वाई श्रेणी की सुरक्षा मिल जाएगी। वहीं कंगना ने ट्वीट कर गृहमंत्री अमित शाह का आभार जताया है। दरअसल, बहुचर्चित सुशांत सिंह राजपूत के मामले में कंगना रनौत ने शुरू से अपनी आवाज बुलंद रखी है। उन्होंने बॉलीवुड माफि‍या, नेपोट‍ज्मि और अब ड्रग्स के मुद्दे पर खुलकर अपनी बात रखी है। कंगना के इन बयानों के चलते वे सेलेब्स के निशाने पर तो आईं ही लेकि‍न कुछ राजनैतिक पार्टि‍यों से भी उन्होंने झगड़ा मोल ले लिया।

इसी सिलसिले में कंगना रनौत और शिवसेना नेता संजय राउत के बीच जुबानी जंग का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। संजय राउत ने कंगना को मुंबई न आने की नसीहत दी थी। इस पर कंगना ने मुंबई आने का चैंलेंज किया था। इसके बाद कंगना ने एक वीडियो भी शेयर किया था। इसमें उन्होंने कहा था कि संजय राउत का मतलब महाराष्ट्र नहीं है। इसी वीडियो में कंगना रनौत कहती हैं कि देश में महिलाओं के साथ रेप होता है, उन पर एसिड फेंका जाता है, ये सब इसलिए हो पाता है क्योंकि समाज की सोच घटिया है। कंगना ने संजय राउत को भी इसी सोच से प्रभावित बताया। कंगना ने संजय राउत पर आरोप लगा दिया है कि उन्होंने हर महिला का अपमान किया है, उन्होंने देश की बेटी को गाली दी है। कंगना रनौत ने तो अब उस समय को भी याद कर लिया है जब आमिर खान और नसीरुद्दीन शाह ने कहा था कि देश में रहने से डर लगता है। उन बयानों को याद करते हुए कंगना कहती हैं- जब आमिर खान और नसीरुद्दीन शाह ने देश के खिलाफ कहा था, तब तो किसी ने उन्हें गाली नहीं दी थी। फिर जब मैंने अपनी अभिव्यक्ति की आजादी का पालन किया तो मुझे गाली क्यों दी गई।

Related Articles

Back to top button
Close