आगरा

गरीबों के बीच सबसे ज्यादा पाया जाता कुपोषण-डॉ. विजय दुहुन

add 22
add 21
add 20
add 2
add 1
add 14
add 13
add 12
add 15

 

आगरा-समाजिक संस्था द बैकबोन ऑर्गनाइजेशन द्वारा कोरोना काल के दौरान हर हफ्ते गरीब बच्चों को कुपोषण मुक्त बनाने के लिए दूध का वितरण कर रही है। संस्था द्वारा करीब 1000 लीटर दूध शहर के गरीब बच्चों तक पहुँचाने का लक्ष्य लिया गया था जो कि पूरा होने को है। यह संस्था अब तक 800 लीटर दूध वितरित कर चुकी है। पिछले कई हफ्तों से इस संस्था ने दूध पीने आने वाले हर बच्चे का वज़न व उम्र का लेखा जोखा रखना भी शुरू किया है। जिससे अगली बार उनका फिर से चेकअप किया जा सके जिससे पता चल सके कि दूध पीने से उनकी सेहत में कुछ सुधार हुआ है या नही। इस बार मुख्य अतिथि के तौर पर डॉ. विजय दुहून मौजूद रहे। वह इस बार फेस ऑफ द ड्राइव थे। उन्होंने खुद अपने हाथो से बच्चो को दूध बांटा। दूध वितरण के दौरान 150 से ज़्यादा बच्चे रिकॉर्ड किए गए। संस्था के मीडिया प्रभारी कुलदीप राघव ने कहा कि शहर में हजारों ऐसे बच्चे हैं जिनको भरपूर पोषण नहीं मिल पाता है। इसी कुपोषण को मिटाने के लिए द बैकबोन ऑर्गनाइजेशन सामने आया है। संस्था के युवाओं ने कमर कस ली है कि कोई भी गरीब बच्चा कुपोषित ना रहे, क्योंकि वही हमारे देश का आने वाला कल है। यह अभियान हर सोमवार और शुक्रवार को शहर के विभिन्न क्षेत्रों में चलाया जाता है।

इस सोमवार को खंदारी, सुल्तानगंज की पुलिया, सिकंदरा और अबू लाला की दरगाह के इलाकों में दूध का वितरण किया गया। डॉक्टर विजय दुहुन ने कहा कि मुझे इस अभियान का हिस्सा बन कर इतनी खुशी हुई है जिसको मैं शब्दों में बयां नहीं कर सकता। बहुत अच्छा लगा यह देख कर की शहर का युवा आज कितना जागरूक हो गया है। कुपोषण हमारे समाज में गरीब तबके के बीच बहुत ज्यादा पाया जा रहा है और यह काफी सालों से चला आ रहा है। इस संस्था ने एक बहुत ही नायाब पहल शुरू की है। यह अभियान आजकल के सारे युवाओं के लिए प्रेरणा है। शहर को बेहतर बनाने में युवाओं का बहुत बड़ा योगदान रहता है। शहर को ऐसे संस्थाओं की जरूरत है। इस अभियान के दौरान दीक्षा चक्रवर्ती, अंजुमन, हिमांशी, पुष्पेन्द्र, ट्विंकल, प्रिंसी, श्वेता भट्ट, मानवी जैन, शशांक, नोमान, शिवम, ईशान, कौशिक, कोषाध्यक्ष सक्षम राज गुप्ता और मैनेजिंग डायरेक्टर अविनाश भट्ट, भीम सिंह बघेल सहित कई गणमान्य लोग मौजूद रहे।

 

Related Articles

Back to top button
Close