राज्यशिक्षा

आप्टा के पदाधिकारियों ने दिया प्रधानमंत्री के नाम डीएम को ज्ञापन

कोचिंग सेंटर खुलवाने व शिक्षकों द्वारा 10 बच्चों को पढ़ानें की मांग

liladhar pradhan 1000

मिशन इंडिया न्यूज़ क्राइम संवाददाता – जितेंद्र सिंह

आगरा-कोरोना काल के दौर में जहां तमाम लोगों का जीवन बर्बादी की कगार पर आ गया है उसमें प्राइवेट शिक्षक व कोचिंग संचालक भी है। मार्च से बंद पड़े हुए कोचिंग सेंटर्स सितंबर तक नहीं खुल पाए जबकि अब तक ज्यादातर संस्थाएं खुल चुके हैं। इस बर्बादी के चलते शिक्षक दिवस पर आगरा प्रोग्रेसिव टीचर्स एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने जिलाधिकारी को प्रधानमंत्री जी के नाम ज्ञापन देकर कोचिंग सेंटर खुलवाने व सोशल डिस्टेंसिंग ध्यान रखकर एक बैच में 10 बच्चों को पढ़ाने की मांग की। इस दौरान एसोसिएशन के संस्थापक व संयोजक डॉ सुनील उपाध्याय ने पत्रकारों को बताया कि सभी सेंटर किराए की बिल्डिंग में है। अब तक लगभग 7 माह का लाखों किराया व बिजली के बिल का उन पर कर्ज हो चुका है। ऊपर से 7 माह की बेरोजगारी की वजह से सभी शिक्षक भुखमरी के कगार पर आ चुके हैं। प्राइवेट शिक्षकों की परेशानी को ध्यान में रखते हुए प्रशासन को कोचिंग सेंटर्स खुलवा कर 10 बच्चों को एक बैच में पढ़ाने के आदेश जारी कर देनी चाहिए साथ ही कोविड-19 के प्रकोप को देखते हुए एक गाइडलाइंस को सुनिश्चित कर देनी चाहिए जिससे सोशल डिस्टेंसिंग पूर्ण रूप से बनी रहे। साथ ही प्राइवेट शिक्षकों को राहत मिल सके। इस अवसर पर संस्थापक डॉ सुनील उपाध्याय, अध्यक्ष डॉ मोहित दीक्षित, जयदीप पवार, अभिनव वशिष्ट, अंकुर जैन, कमल जैन, प्रतीक अरोरा, विजेंद्र सिंह तोमर, मुकेश मिरचंदानी, राजकुमार गुप्ता, रत्नेश शर्मा, मोहित सिंह, मनोज कुमार, नवनीत पचौरी, राम महेश्वरी, अनिल उपाध्याय, अमनदीप सिंह, सत्यवीर सिसोदिया, अनिल राजवनि, वैभव बंसल, दिवाकर खिरवार, आनंद कुमार, रोहित दीक्षित, बृजेश कुमार, मुकुल सहित अन्य शिक्षकगण भी मौजूद रहे।

Related Articles

Back to top button
Close