आगरा

मोहर्रम पर शिया समुदाय ने मनाया मातम -या हुसैन या हुसैन से गूंजी ताजनगरी

bcfdafb2-d065-4e53-8528-6a8ff7baea05
5715cd67-2287-4bdb-ad41-abeae827f374
WhatsApp Image 2020-01-25 at 6.28.27 PM
WhatsApp Image 2020-01-25 at 8.44.19 PM

मिशन इंडिया न्यूज़ संवाददाता- अमन गुप्ता

आगरा-ताजनगरी मे इमाम हुसैन का कदीमी जुलूस ए आलम मे मनाया गया, मोहर्रम में से शामिल सोगवारो ने जंजीरों और छुरियों से मातम कर खुद की लहूलुहान किया। दरअसल मुहर्रम को हर वर्ष शहर में जुलूस ए आलम निकाला जाता है जिसमे हज़ारो शिया समुदाय के लोग शामिल होते है ताजियों का सैलाब पाय चौकी स्थित फूलों का ताजिया धूलिया गज चौराहे जुलूस शहर के मुख्य मार्गो से होते हुए देर करबला पर  समाप्त हुआ। इस दौरान जुलूस सदाओं में गूंज उठा या हुसैन या हुसैन और सोगवारो ने जंजीरों में लगी छुरी से मातम कर खुद को लहूलुहान किया। मोहर्रम में सुरक्षा कड़े इंतजाम किये गए चप्पे चप्पे पर फोर्स तैनात की गई ।शिया समुदाय के लोगों द्वारा सिटी मजिस्ट्रेट सीओ कोतवाली और प्रशासन के आला अधिकारी को सम्मानित किया गया। मुस्लिम समाज के लोगों ने पत्रकारों को बताया कि आज के दिन कर्बला ए को याद किया जाता है और उन्हीं की याद में यह मोहर्रम का पर्व मनाया जाता है ।पाय चौकी स्थित पूरे क्षेत्र में 554 ताजिए रखे गए हैं धूलिया गंज पाय चौकी, बेगम ढोली  शाहगंज रामबाग आदि क्षेत्रों से ताजियों का जुलूस निकलता है और कब्रिस्तान जाकर हिना को दफन किया जाता है। इस जलूस में काफी संख्या में लोग मौजूद थे ।