राज्य

कथा के दौरान आंधी से पंडाल गिरा, करंट फैलने से 14 श्रद्धालुओं की मौत

1776b2aa-f544-44e5-bc5e-b7b511d78d7b

मिशन इंडिया न्यूज़ संवाददाता

बाड़मेर – राजस्थान में बाड़मेर जिले के बालोतरा कस्बे में स्थित जसोल धाम में चल रही कथा के दौरान आज अचानक मौसम में आये बदलाव से पंडाल गिरने से चौदह श्रद्धालुओं की मौत हो गई तथा पचास से अधिक घायल हो गए। सूत्रों के अनुसार जसोल में माता रानी भटियाणी जी की कथा चल रही थी जिसमे बड़ी तादाद में श्रद्धालु उपस्थित थे। हादसे के बाद वहां अफरा-तफरी फैल गई। बताया जा रहा है कि तूफान इतना तेज था कि लोगों को संभलने का भी मौका नहीं मिला।जानकारी के अनुसार हादसा बाड़मेर जिले के जसोल गांव में हुआ. गांव के स्कूल परिसर में रामकथा का आयोजन किया जा रहा था। आयोजन के लिए वहां करीब 200 फीट का लोहे का पांडाल लगाया गया था. पांडाल में करीब एक हजार श्रद्धालु मौजूद बताए जा रहे हैं। इसी दौरान दोपहर बाद मौसम ने पलटा खाया। करीब पौने चार बजे अचानक तेज आंधी-तूफान आया, जिससे पांडाल गिर गया और श्रद्धालु उसमें दब गए।अचानक इस दौरान मौसम में आए बदलाव से आंधी एवं बरसात के चलते पंडाल गिर गया जिससे बारिश के कारण पंडाल में करंट फैल गया। हादसे में करीब चौदह श्रदालुओं की मौत हो गई तथा पचास से अधिक घायल हो गए। घटना की सुचना मिलते ही जिला प्रशासन और पुलिस मौके पर पहुंचकर बचाव और राहत कार्य शुरू कर दिया। घायलों को उपचार के लिए नाहटा अस्पताल मे भर्ती कराया गया है।