आगरा

दलित समाज ने बैरंग लौटाया, हाथ जोड़कर निकले  रामशंकर कठेरिया

मिशन इंडिया न्यूज़ संबाददाता- अमन गुप्ता

आगरा – लोकसभा सीट के सांसद और एससी आयोग के चेयरमैन प्रोफेसर रामशंकर कठेरिया का दाब उस समय उल्टा पड़ गया । जब प्रोफेसर रामशंकर कठेरिया को दलित समाज के लोगों ने बैरंग लौटा दिया।घटनाक्रम गुरुवार सुबह राजनगर लोहामंडी का है । बताया जाता है कि आगरा शहरी लोकसभा सीट के सांसद और एससी आयोग के चेयरमैन प्रोफेसर रामशंकर कठेरिया ढोल नगाड़े के साथ में कमल संदेश पद यात्रा निकाल रहे थे।तभी राजनगर लोहामंडी में सड़क पर ही बाबा साहब की प्रतिमा रखकर परिनिर्वाण दिवस पर संगोष्ठी का आयोजन चल रहा था । वीडियो के मुताबिक ढोल नगाड़े बीजेपी के झंडे बैनर और कार्यकर्ताओं के साथ में चल रहे रामशंकर कठेरिया ने बाबा साहब के परिनिर्वाण दिवस पर राजनगर लोहामंडी में आयोजित कार्यक्रम में बाबा साहब की प्रतिमा के समक्ष पुष्प चढ़ाने की कोशिश की तो दलित समाज के लोगों ने दो टूक शब्दों में रामशंकर कठेरिया को बैरंग लौटा दिया।इस दौरान दलित समाज के लोगों का आक्रोश देख रामशंकर कठेरिया हाथ जोड़कर चुपचाप निकल गए। बात इतनी होती तो भी गनीमत थी दलित समाज के लोगों ने दो टूक शब्दों में प्रोफ़ेसर रामशंकर कठेरिया से कहा कि जाओ अब तुम्हारी कोई जरूरत नहीं है और बाबा साहब के परिनिर्वाण दिवस पर ढोल नगाड़े बजाकर शोक श्रद्धांजलि नहीं दी जाती बल्कि तुम लोग जन्मदिन क्यों मना रहे हो। दलित समाज के लोगों के आक्रोश के चलते प्रोफेसर रामशंकर कठेरिया जहां हाथ जोड़ कर चुपचाप निकले तो वही एक भी बीजेपी नेता बोलने की हिम्मत नहीं जुटा पाया। इस पूरे मामले का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है । 1 मिनट 32 सेकंड के वीडियो में आप साफ़ तौर पर देख सकते हैं कि किस तरीके से दलित समाज के लोग रामशंकर कठेरिया के खिलाफ नाराजगी जता रहे हैं और रामशंकर भी दलित समाज के आक्रोश के चलते हाथ जोड़ कर चुपचाप निकल रहे हैं।